माया-अखिलेश का गठबंधन: बदले राजभर के सुर, कहा- यूपी में 2 ताकतें मिली हैं पर NDA को घबराने की जरूरत नहीं

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर शनिवार को महाराजा सुहेलदेव की मूर्ति का अनावरण करने आजमगढ़ के अहिरौला बाजार में पहुंचे. इस दौरान उन्होंने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन पर कहा कि यह देश गठबंधन के दौर से गुजर रहा है. आपने देखा पिछली बार भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी और 38 दलों के गठबंधन से बनी. अभी तमाम स्टेटों के चुनाव हुए, वहां भी गठबंधन को लेकर ही चुनाव हो रहे हैं.

यह कोई नया चीज नहीं है. उन्होंने कहा कि मैं यह कहूंगा कि दोनों अपने में घोर विरोधी दल थे, दोनों दल मिले हैं. यह बात जरूर है कि दोनों दल उत्तर प्रदेश में अपनी-अपनी ताकत में हैं तो 2 ताकतें मिली हैं. उन्होंने कहा कि इससे घबराने की बात एनडीए को नहीं है. भारतीय जनता पार्टी को मैं बार-बार समझाने की कवायद में हूं कि उत्तर प्रदेश में 80 पार्लियामेंट की सीट है और हर सीट पर 5 लाख 6 लाख तक अकेले अति पिछड़ा वोट है. पिछड़ा 27 परसेंट आरक्षण, जो पिछड़ी जाति को लागू है उसमें बटवारा चाहता है. जो रिपोर्ट आई है अति पिछड़ा सामाजिक न्याय कमेटी की उसको लागू कराना चाहते हैं. उसको लागू कर दे तो लड़ाई ही नहीं रह जाएगी.

वहीँ गठबंधन में शामिल होने के सवाल ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अच्छी खबर आप बता रहे हैं कि कल तक मुझे कोई जानता नहीं था. कोई मानता नहीं था और आज कम से कम इस लायक तो मैं हो गया कि बिना मांगे लोग 2 सीट दे रहे हैं. यह भारतीय समाज पार्टी के लिए एक अच्छी खबर है.

वहीं सवर्णों को दिया गया आरक्षण के बारे में बोलते हुए कहा कि देखिए चुनाव के समय कोई भी सही फैसला होता है तो उसे चुनाव से जोड़ दिया जाता है. फैसला अगर 5 महीने 6 महीने पहले हुआ होता तो इसको कोई चुनावी जुमला नहीं कहता. फैसला सही है सब कुछ सही है. लेकिन चुनाव के समय आने से लोग इसे चुनाव के वजह से जोड़ दिए हैं. उन्होंने कहा कि 27% आरक्षण में यदि विभाजन नहीं होगा तो 100 दिन का हमने समय दिया है. आज 12 दिन बीत गए हैं और इसके बाद हम 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करेंगे. पूरब से लेकर पश्चिम तक और उत्तर से लेकर दक्षिण तक हम अपना काम कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *