मायावती-अखिलेश के साथ पर बोले शिवपाल- मेरे बिना अधूरा है यह गठबंधन

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) (Pragatisheel Samajwadi Party (Lohia)) के चीफ शिवपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) का गठबंधन उनके बिना अधूरा है. उन्होंने कहा कि सिर्फ सेक्युलर फ्रंट ही भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) को चुनाव में हरा सकते हैं.

आपको बता दें कि शनिवार को उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने गठबंधन किया. इस दौरान दोनों पार्टियों के बीच साल 2019 के लोकसभा चुनाव में सीट शेयरिंग को लेकर समझौता हुआ. दोनों पार्टियों ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला लिया. इसके अलावा अमेठी और रायबरेली सीटों समेत 4 सीटों को छोड़ा गया है. बताया जा रहा है कि दो सीटें पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोक दल (Rashtriya Lok Dal) के लिए छोड़ी गई हैं.

इस गठबंधन से कांग्रेस के साथ ही शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) को भी बाहर रखा गया है. शनिवार को जब शिवपाल यादव से सपा-बसपा गठबंधन को लेकर सवाल किए गए, तो उन्होंने कहा कि यह गठबंधन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बिना अधूरा है. चुनाव में बीजेपी को सिर्फ सेक्युलर फ्रंट ही मात दे सकता है. अगर हम पिछले लोकसभा और विधानसभा चुनाव की बात करें, तो दोनों में ही सपा और बसपा को करारी हार का सामना करना पड़ा था. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उत्तर प्रदेश की 80 सीटों में 71 सीटों पर जीत दर्ज की थी और एनडीए में बीजेपी की सहयोगी अपना दल को 2 सीटों पर जीत मिली थी.

आपको बता दें कि हाल ही में शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाई थी. इसके बाद उन्होंने सूबे में बीजेपी को हराने के लिए सेक्युलर फ्रंट बनाने का भी ऐलान किया था.

मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान शिवपाल पर ली थी चुटकी

शुक्रवार को बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन के ऐलान के दौरान मायावती ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) चीफ शिवपाल यादव पर चुटकी ली, जिस पर अखिलेश यादव भी अपनी हँसी रोक पाए. शिवपाल यादव का जिक्र करते हुए मायावती ने कहा था, ‘हमारे गठबंधन से डरकर भारतीय जनता पार्टी अखिलेश यादव का नाम खनन घोटाले में घसीट रही है और केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) का दुरुपयोग कर रही है. इससे सपा-बसपा गठबंधन कमजोर होने की बजाय और मजबूत हुआ है.

अब बीजेपी का शिवपाल यादव पर पानी की तरह बहाया गया पैसा भी बेकार चला जाएगा. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ‘पर्दे के पीछे से बीजेपी द्वारा चलाई जा रही शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) समेत मुस्लिमों, दलितों और पिछड़ों के नाम पर बनाई गई पार्टियों और बीजेपी के संगठन के द्वारा खड़े किए प्रत्याशियों को यूपी के लोग अपना वोट देकर बर्बाद नहीं करेंगे. सूबे की जनता हमारे पवित्र और भाईचारे पर आधारित गठबंधन को नुकसान नहीं पहुंचाएगी.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *