कोहली-धोनी नहीं ये महिला क्रिकेटर है असली चेज मास्टर, हैरान कर देंगे रिकॉर्ड

भारतीय पुरुष टीम के कप्तान विराट कोहली और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी को रनों का पीछा करना बहुत पसंद है. जब तक दोनों क्रीज पर रहते हैं, हर किसी को भरोसा रहता है कि भारत यह मैच जीत जाएगा. इन दोनों खिलाड़ियों को ‘चेज मास्टर’ के नाम से जाना जाता है. लेकिन इन दोनों खिलाड़ी को भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने रन चेज करने में पीछे छोड़ दिया है.

कुछ माह पहले भारतीय महिला टीम की बल्लेबाज मिताली राज अपने भूतपूर्व कोच रमेश पवार के साथ हुए विवाद के कारण सुर्खियों में थीं. उन्हें वेस्टइंडीज में हुए 2018 विश्वकप टी-20 के सेमीफाइनल में शामिल नहीं किया गया था. हालांकि 36 वर्षीय मिताली के लिए यह नया साल अभी तक अच्छा गुजरा है. न्यूजीलैंड में उनके नेतृत्व में भारतीय टीम शानदार प्रदर्शन कर रही है. मिताली ने अंतिम ओवर में जिस तरह से छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई, फैंस ने ‘धोनी’ करार दिया.

भारतीय महिला टीम ने दूसरे वनडे में न्यूजीलैंड को आठ विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज अपने नाम कर ली. टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए भारत ने न्यूजीलैंड को 44.2 ओवर में 161 रन पर आउट कर दिया. इसके बाद ‘प्लेयर आफ द मैच ’ मंधाना (नाबाद 90) और कप्तान मिताली राज (नाबाद 63) ने तीसरे विकेट के लिए 151 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को जीत दिलाई. एक समय भारत का स्कोर दो विकेट पर 15 रन था जब सलामी बल्लेबाज जेमिमा रौद्रिगेज (0) और दीप्ति शर्मा (आठ) अपना विकेट गंवा बैठे थे. बाद में इन दोनों बल्लेबाजों ने टीम को संभाला और जीत दिलाई.

mithali raj

रनों का पीछा करते हुए मिताली राज की औसत 111.29 की हो गई है. विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की बात करें तो धोनी की औसत 103.07 की है तो वहीं कोहली की औसत 96.23 की है. इससे यह पता चलता है कि रनों का पीछा करने में मिताली राज भारत के इन दो खिलाड़ियों से आगे हैं.

हम 3-0 से जीत दर्ज करने की कोशिश करेंगे: मिताली
कप्तान मिताली राज ने दूसरे वनडे में मिली जीत के बाद कहा कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम का लक्ष्य न्यूजीलैंड के खिलाफ इस श्रृंखला में सूपड़ा साफ करने का है. मिताली ने कहा, “हम निश्चित तौर पर 3-0 से जीतना चाहेंगे। इसके साथ ही हम युवा खिलाड़ियों को मौका देना चाहेंगे.” उन्होंने कहा, “शुरुआत में कई लोगों ने मुझसे पूछा था कि क्या ऐसी पिचों पर स्पिनर प्रभावी गेंदबाजी कर पाएंगे. स्पिनरों ने शानदार प्रदर्शन किया और स्मृति (मंधाना) तथा जेमिमा रोड्रिगेज काफी रन बना रही हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *