साल 2004 के बाद जम्मू-कश्मीर में हुआ ये पहला फिदायीन हमला, अलर्ट पर थी सेना

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला हुआ है. पुलवामा के अवंतीपुरा में आतंकियों ने फिदायीन हमला किया जिसमें अब तक 18 जवान शहीद हो गए हैं. जम्मू-कश्मीर में साल 2004 के बाद ये पहला फिदायीन हमला किया गया है. इसमें करीब 35 जवान जख्मी बताए जा रहे हैं. घायलों को अस्पताल में भर्ती किया जा रहा है. पिछले कुछ दिनों में हुए आतंकी हमले में ये सबसे बड़ा हमला है. धमाका इतना जबरदस्त था कि सीआरपीएफ के काफिले की बस के परखच्चे उड़ गए.

दरअसल सीआरपीएफ के जवानों के काफिले को श्रीनगर से पुलवामा ले जाया जा रहा था. इसमें करीब 2500 जवान थे. जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है. आदिल अहमद नाम के आतंकी ने इस घटना को अंजाम दिया है. जानकारी के मुताबिक सीआरपीएफ की दो बसें थीं और इनके आगे सुरक्षा वाहन भी चल रहे थे.

इस काफिले में सीआरपीएफ की तीन बटालियन एक साथ जा रही थीं. ये हमला 3 बजकर 37 मिनट पर लातू मोड़ पर है. सीआरपीएफ की 54वीं, 179वीं और 34वीं बटालियन को निशाना बनाया गया. बता दें कि सेना अलर्ट पर थी इसके बाद भी इस हमले को अंजाम दिया गया. सीआरपीएफ के आईजी ने कहा कि ये आतंकी हमला है. उन्होंने कहा कि जांच के बाद पता चलेगा कि इस हमले के पीछे कौन जिम्मेदार था.