Pulwama investigation: 25 KM के दायरे में फैला है टेरर हॉट बेड, NIA को गाजी की तलाश

नई दिल्ली। पुलवामा हमले की जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, आतंकियों की खूनी साजिश का खुलासा हो रहा है. एनआईए की जांच में पता चला है कि जम्मू-श्रीनगर के नेशनल हाईवे पर 20 से 25 किलोमीटर के दायरे में आतंकियों का हॉट बेड है. हॉट बेड यानी की आतंकियों का वो इलाका जहां वो कई सालों से मजबूती से अपनी जड़ें जमा चुके हैं. अब सेना और सुरक्षा एजेंसियों की नजर इसी हॉट बेड पर है. इस हॉट बेड में जैश के कई आतंकियों की छिपे होने की खबर है. आतंकियों का ये हॉट बेड पम्पोर से पुलवामा के बीच मौजूद है.

सुरक्षा बल पाम्पोर से पुलवामा के बीच मौजूद इन गांवो में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू कर चुके हैं. सुरक्षा बलों को पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड राशिद गाजी और कामरान की तलाश है. माना जाता है कि राशिद गाजी ने ही इस हमले में फिदायीन बने आदिल डार को विस्फोटक लगाने और उसे विस्फोट करने की ट्रेनिंग दी थी. अफगान में मजुाहिद्दीन रहा गाजी आईईडी एक्सपर्ट माना जाता है. खुफिया एजेंसियों की मानें तो 11 फरवरी को पुलवामा के रत्नीपुरा गांव में सेना के साथ मुठभेड़ में राशिद गाजी बचकर भाग निकला था. इस मुठभेड़ में एक स्थानीय आतंकी मारा गया था जबकि तीन आतंकी जान बचाकर भागे थे.

इस इलाके को जीरो-इन करने के लिए सेना और सुरक्षा एजेंसियों ने सुरक्षा बलों और रोड ऑपरेटिंग पार्टी (ROP) पर हुए पुराने हमलों को ध्यान में रखा है. इन हमलों को मैप पर डाला गया तो पता चला है कि 2014 से 2018 के बीच 20 से 25 किलोमीटर के इसी दायरे में कुल 10 हमले हुए हैं.

इस पुख्ता जानकारी मिलने के बाद NIA पुलवामा से पाम्पोर के बीच मौजूद 20 से 25 किलोमीटर के मोबाइल टॉवर से इलाके में किए गए संदिग्ध कॉल की डिटेल भी खंगाल रही है. एनआईए की टीम अब पाम्पोर से पुलवामा के बीच सेना के काफिले पर हुए 10 हमलों के तरीके को एग्जामिन कर रही है. ताकि इन हमलों के तार आपस में जोड़े जा सकें.

सूत्रों के हवाले से खबर है कि NIA पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले 2 दिन पहले से घाटी के सभी टेलीग्राम मैसेज, इंटरनेट कॉल डिटेल खंगाल रही है. सूत्र बताते हैं कि NIA जैश-ए-मोहम्मद के टेलीग्राम चैनल अंसार-ए-जैश के सभी वीडियो और ऑडियो मैसेज का भी डिटेल निकाल कर उसमें छुपे संदेशों को पढ़ने की कोशिश कर रही है.