फारूक अब्दुल्ला ने कहा या यू कहिए धमकाया कि जब तक कश्मीर मामला सुलझ नहीं जाता, पुलवामा जैसे अटैक होते रहेंगे

नई दिल्ली। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले को लेकर एकबार फिर विवादित बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जब तक कश्मीर मसला सुलझ नहीं जाता तब तक ऐसे हमले होते रहेंगे.

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ”जब तक कश्मीर मसला सुलझ नहीं जाता तब तक पुलवामा जैसे हमले होते रहेंगे.” इससे पहले अब्दुल्ला ने कहा था कि जम्मू कश्मीर में आतंक की समस्या का समाधान सिर्फ बातचीत के जरिए ही निकाला जा सकता है.

वहां के नागरिकों के मुद्दे पर अपना पक्ष रखते हुए फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि कश्मीर की जनता पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार नहीं है और जब तक कश्मीर मुद्दे का राजनीतिक समाधान नहीं निकलता तब तक ऐसा ही चलता रहेगा.

हमले के बाद फारूक अब्दुल्ला ने क्या कहा था

इससे पहले हमले के बाद एबीपी न्यूज से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा था, ”मुझे अफसोस है कि ये अटैक हुआ…मगर ये आज की बात नहीं है. वहां रोज कुछ न कुछ इस तरह का हो जाता है. जब तक कोई रास्ता नहीं ढ़ूंढ़ा जाएगा ये खत्म नहीं होगा. बंदूक से मामला हल नहीं होगा. बातचीत से मसला हल होगा. आपको जम्मू-कश्मीर के आवाम से बात करनी पड़ेगी. आप अपने लोगों से बात नहीं करेंगे तो किससे करेंगे?”

कब हुआ था हमला

बता दें कि गुरुवार (14 फरवरी) को दोपहर 3 बजकर 37 मिनट पर सीआरपीएफ के काफिले को निशाना बनाया गया था. इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने बस पर फिदायीन हमला किया. फिदायीन हमले में जिस गाड़ी का इस्तेमाल किया गया उसमें 200 किलोग्राम विस्फोटक भरा हुआ था. विस्फोट इतना जबरदस्त था कि बस के परखच्चे उड़ गए और तकरीबन पांच किलो मीटर तक इसकी आवाज सुनाई पड़ी थी. हमला तब हुआ था जब सीआरपीएफ जवानों का काफिला श्रीनगर से पुलवामा ले जाया जा रहा था.