दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए 1 मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे केजरीवाल

नई दिल्लीदिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिये जाने की मांग को लेकर एक मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे. सीएम केजरीवाल ने खुद इस बात की जानकारी दिल्ली विधानसभा में अपने भाषण में दी है. सीएम केजरीवाल ने कहा है, ‘’एक मार्च से दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का आंदोलन शुरू होगा और जब तक दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नही मिलता ये आंदोलन खत्म नही होगा.’’

केजरीवाल का सवाल- पूर्ण राज्य का दर्जा क्यों नहीं दिया गया?

केजरीवाल ने अपने भाषण में कहा है, ‘’पिछले 70 सालों से दिल्ली के लोगों का अपमान हो रहा है. अंग्रेज़ों के जाने और जनतंत्र लागू हो जाने के बावजूद दिल्ली में जनतंत्र लागू नहीं हुआ, क्योंकि दिल्ली में लोग सरकार तो चुनते हैं लेकिन इस चुनी हुई सरकार के पास काम करने के लिए कोई पावर नहीं है.’’ केजरीवाल ने सवाल खड़ा किया, ‘’दिल्ली के लोगों के वोट की क़ीमत कम क्यों रखी गई है? पूर्ण राज्य का दर्जा क्यों नहीं दिया गया?

क्राइम कैपिटल हो गई है दिल्ली- केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा, ‘’पहले बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने पूर्ण राज्य के दर्जे की मांग की थी, लेकिन अब दोनों मुकर गए हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘’दिल्ली क्राइम कैपिटल हो गई है, क्योंकि दिल्ली की पुलिस प्रधानमंत्री के पास है और वहां तक दिल्ली के लोगों की पहुंच नहीं है. मैं चार साल से कोशिश कर रहा हूं, लेकिन मुझे समय नहीं मिला.’’

प्रधानमंत्री जी आप पाकिस्तान संभाल लो जो आपसे संभल नहीं रहा- केजरीवाल

सीएम केजरीवाल ने आगे कहा, ‘’प्रधानमंत्री जी आप पाकिस्तान संभाल लो जो आपसे संभल नहीं रहा, हम दिल्ली का क्राइम सम्भाल लेंगे. दिल्ली गंदी इसलिए है, क्योंकि एमसीडी दिल्ली के पास नहीं है. दिल्ली में दो लाख नई नौकरियां निकल सकती हैं, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री को पावर ही नहीं है वैकेन्सी निकालने की.’’ उन्होंने कहा, ‘’केंद्र सरकार को चार बार लिखा कि हम विश्वविद्यालय और नए कॉलेज बनाना चाहते हैं, लेकिन ये खोलने नहीं दे रहे. इन सब चीज़ों के बावजूद हमने दिल्ली में काम करके दिखाया है.’’

सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘’अब एक ही रास्ता है, आंदोलन. पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए आंदोलन.
मेरा वादा है जिस दिन दिल्ली पूर्ण राज्य बन गई दस साल में रह परिवार को एक घर देंगे, सब झुग्गी को पक्का करेंगे, दिल्ली लंदन पेरिस से ज़्यादा साफ होगी. एक मार्च से आंदोलन शुरू होगा. मैं अनिश्चित क़ालीन उपवास पे बैठ रहा हूं.’’