Sri Lanka Blast: कोलंबो एयरपोर्ट के पास फिर देशी बम मिलने से सनसनी, 8 धमाकों में अब तक 3 भारतीयों समेत 290 की मौत

कोलंबो। श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट में अब तक 3 भारतीयों समेत 290 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, 500 से ज्यादा लोग जख्मी बताए जा रहे हैं. इन धमाकों के बाद श्रीलंका पुलिस ने 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इन 13 लोगों को कोलंबो और उसके आसपास दो स्थानों से गिरफ्तार किया गया है. अब तक किसी आतंकी संगठन या समूह ने इन हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है. श्रीलंका में आतंकियों ने कल ईस्टर संडे के मौके पर 3 चर्च और 5 होटलों को निशाना बनाया था. जानें इस हमले से जुड़ी अबतक की बड़ी बातें.

कल सुबह 8.45 पर हुए हमले

ये हमला श्रीलंका में हुए अब तक के सबसे खतरनाक हमलों में से एक है. ये विस्फोट स्थानीय समयानुसार सुबह पौने नौ बजे के करीब ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान कोलंबो के सेंट एंथनी चर्च, पश्चिमी तटीय शहर नेगोम्बो के सेंट सेबेस्टियन गिरजाघर और बट्टिकलोवा के जियोन चर्च में हुए. कोलंबो के तीन पांच सितारा होटलों- शांगरी ला, सिनामोन ग्रैंड और किंग्सबरी को भी निशाना बनाया गया.

मारे गए 35 विदेशियों में 3 भारतीय शामिल

श्रीलंका के पर्यटन विभाग के चेयरमैन किशु गोम्स ने बताया कि इन धमाकों में 35 विदेशी नागरिक मारे गये हैं. नेशनल हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. अनिल जयसिंघे ने 35 में से 12 विदेशी नागरिकों की पहचान की है, जिनमें भारत के तीन, चीन के दो तथा पोलैंड, डेनमार्क, जापान, पाकिस्तान, अमेरिका, मोरक्को और बांग्लादेश के एक-एक नागरिक शामिल हैं.

सहायतामदद के लिए हैल्पलाईन नंबर जारी

कोलंबो में भारतीय उच्चायोग ने कहा कि वह श्रीलंका की परिस्थितियों की निगरानी कर रहा है. उच्चायोग ने ट्वीट किया, ‘‘हम स्थिति पर लगातार नजर रख रहे हैं. भारतीय नागरिक किसी भी तरह की सहायता, मदद और स्पष्टीकरण के लिए इन नंबरों पर फोन कर सकते हैं +94777903082, +94112422788, +94112422789, +94777902082, +94772234176.’’

नाश्ते की लाइन में लगकर हमलावर ने खुद को उड़ाया

अधिकारियों ने बताया कि एक आत्मघाती हमलावर ने सिनामोन ग्रैंड होटल के रेस्तरां में विस्फोट कर खुद को उड़ा दिया. होटल सिनामॉन ग्रैंड में मोहम्मद आजम मोहम्मद नाम के आत्मघाती आतंकी ने ईस्टर के नाश्ते की लाइन में लगकर खुद को बम से उड़ा लिया था. इस विस्फोट में तीन पुलिसकर्मियों की भी मौत हो गई थी और यह आठवां धमाका था.

श्रीलंका सरकार ने की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील

श्रीलंका के रक्षा राज्य मंत्री रूवन विजयवर्धने ने कहा, “हमारा मानना है कि ये सुनियोजित हमले थे और इनके पीछे एक समूह था.” वहीं, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की. उन्होंने कहा, ‘‘मैं पूरी तरह से अप्रत्याशित घटना से सदमे में हूं. सुरक्षाबलों को सभी जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिये गए.’’  प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने इसे ‘‘कायराना हमला’’ बताया.

विस्फोटों को देखते हुए भंडारनायके अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. दंगा पुलिस और विशेष कार्य बल समेत अतिरिक्त सुरक्षा बल को हवाई अड्डे के पास तैनात कर दिया गया है. सभी सरकारी विश्वविद्यालयों को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है. कोलंबो जिले में ईस्टर पर होने वाली सभी प्रार्थना सभाएं रद्द कर दी गई हैं.

श्रीलंका में आज छुट्टी घोषित

आठवें विस्फोट के तुरंत बाद सरकार ने तत्काल प्रभाव से कर्फ्यू लगा दिया. इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर भी अस्थाई प्रतिबंध लगा दिया गया. आज पूरे श्रीलंका में छुट्टी घोषित की गई है.

बंडारानायके इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास एक बम डिफ्यूज किया गया

कहा जा रहा है कि कोलंबो में बंडारानायके इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास भी एक बम मिला था, लेकिन बम निरोधक दस्ते ने उसे डिफ्यूज कर दिया था. श्रीलंका एयरफोर्स के अधिकारियों ने जांच के बाद बताया है कि आईईडी की मदद से हमले में इस्तेमाल किए गए बम श्रीलंका में ही बनाए गए थे.