दिल्ली के लिए AAP ने किए कई ऐलान, लेकिन हर वादे के साथ लगाई शर्त

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को दिल्ली के लिए अपना घोषणापत्र जारी किया. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा, तो कई वादों को गिनाया. आम आदमी पार्टी इस बार पूर्ण राज्य के मुद्दे को फ्रंटफुट पर रख चुनाव में जा रही है. मेनिफेस्टो में भी इसकी झलक मिली और हर वादे के साथ उन्होंने कहा कि अगर पूर्ण राज्य बनता है तो वादा निभा देंगे.

आम आदमी पार्टी के घोषणापत्र में बड़े वादे क्या हैं…

–    पूर्ण राज्य बना तो दिल्ली के 85% बच्चों को कॉलेजों में एडमिशन देंगे

–    पुलिस को जनता के प्रति accountable बनाएंगे, जिससे महिलाएं सुरक्षित होंगी

–    राज्य के सभी अस्थाई कर्मचारियों को एक हफ्ते में स्थाई करेंगे

–    पूर्ण राज्य बना तो MCD सरकार के अंदर आएगी फिर दिल्ली और भी साफ बनेगी

–    एक हफ्ते में कच्चे कर्मचारी, गेस्ट टीचर पक्के होंगे

–    दिल्ली के हर मतदाता को सस्ती और आसान किस्त में घर मिलेगा

–    एंटी करप्शन ब्रांच दिल्ली सरकार के अंतर्गत आएगी, तो भ्रष्टाचार पर रोक लगा देंगे

–    पूर्ण राज्य बना तो जनलोकपाल बिल पास करेंगे

अरविंद केजरीवाल ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया कि ये चुनाव संविधान को बचाने वाला है, हमारा लक्ष्य नरेंद्र मोदी को चुनाव हराना है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को छोड़ जो भी सरकार बनाने की हालत में होगा, हम उसे समर्थन करेंगे.

केजरीवाल ने कहा कि जो भी सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगी हम उसी को समर्थन करेंगे. अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज बीजेपी अल्पसंख्यकों को घुसपैठिया मानती है, हमारा लक्ष्य हर किसी को सुरक्षित महसूस करवाना है. पूर्ण राज्य का दर्जा मिलते ही दिल्ली पुलिस में खाली पड़ी जगहों को भरेंगे.

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को लेकर पिछले लंबे समय से गठबंधन को लेकर बात चल रही थी, जो सफल नहीं हो पाई थी. अब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस अलग-अलग सातों सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं.