वाराणसी में बोले पीएम मोदी- मैं गंदी से गंदी चीजों से खाद बना देता हूं और उससे ही कमल खिलाता हूं

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नामांकन दाखिल करने से पहले वाराणसी में बीजेपी कार्यकता को संबोधित किया और उनका उत्साह बढ़ाया. उन्होंने कहा कि एक-एक वोट बहुत महत्वपूर्ण होता है बीजेपी के कार्यकर्ता के नाते बनारस वालों की कठिनाई बहुत है. क्योंकि और जगह तो सबका उम्मीदवार साथ चलकर प्रचार करता है लेकिन आप इतने कम नसीब हैं कि आपका उम्मीदवार तो पर्चा भरकर ही यहां से चला जायेगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आपका उम्मीदवार इतना भाग्यवान है कि वो कहीं भी रहे यहां का कार्यकर्ता अपने भीतर खुद को उम्मीदवार मानता है. उन्होंने कहा, ”इस चुनाव के दो पहलू हैं- एक है काशी लोक सभा जीतना. मेरे हिसाब से ये काम कल पूरा हो गया है. एक काम अभी बाकी है वो है पोलिंग बूथ जीतना और एक भी पोलिंग बूथ बीजेपी का झंडा झुकने नहीं देना.”

प्रधानमंत्री ने कहा, ”इस चुनाव में हमें कुछ रिकॉर्ड भी तोड़ने हैं. मैं चाहता हूं कि लोकतंत्र जीतना चाहिए. रिकॉर्ड ये तोड़ना है कि अब तक बनारस में, उत्तर प्रदेश में जितना पोलिंग हुआ है, उससे कहीं ज्यादा वोटिंग हो. दुनिया को दिखा देना है कि मतदान के सारे रिकॉर्ड हम तोड़ देंगे.”

पीएम मोदी ने अपनी सुरक्षा का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ”कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए. लेकिन मोदी का कोई ध्यान रखता है तो इस देश की करोड़ों माताएं. वे शक्ति बनकर मेरी सुरक्षाकवच बनती हैं.”

प्रधानमंत्री ने बीजेपी कार्यकर्ताओं को चेताया कि वह अपने विरोधियों के लिए किसी भी परिस्थिति में अपशब्द का इस्तेमाल नहीं करें. उन्होंने कहा, ”दोस्ती और प्रेम जो राजनीति में खत्म हो रहा है, उसे वापस लाना है.”

पीएम ने कहा, ”जब कोई गलत बात कहे तो उसे आप मोदी के खाते में जमा कर दो, मैं गंदी से गंदी चीजों से, कूड़े-कचरे से भी खाद बना देता हूं और उससे ही कमल खिलाता हूं.”

उन्होंने कहा, ”हमें हेकड़ी नहीं मारनी चाहिए कि हम ही सब कुछ हैं. भगवान ने हमें सब कुछ दिया है.” मोदी ने कार्यकर्ताओं के ‘हर हर महादेव’ के उद्घोष के बीच महिलाओं के मतदान के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि पुरूषों की तुलना में महिलाओं का मतदान पांच प्रतिशत ज्यादा होना चाहिए.

प्रधानमंत्री ने वाराणसी सीट से जीत के प्रति विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि जनता ने मन बना लिया है . इतिहास का पहला मौका है कि इस तरह का चुनाव लड़ा जा रहा है. उन्होंने कहा, ”मैंने अपने भीतर का कार्यकर्ता कभी मरने नहीं दिया … हम भारत मां के छोटे छोटे सिपाही हैं.”