गाजा से हुए रॉकेट अटैक पर बुरी तरह भड़के इस्राइल ने किया हवाई हमला, 16 फिलीस्तीनियों की मौत

गाजा सिटी। गाजा से रविवार तड़के अपने ऊपर दागे गए रॉकेट्स के जवाब में इस्राइल ने पलटवार करते हुए लगातार हवाई हमले किए। इसी के साथ दोनों पक्षों के बीच तनाव बहुत अधिक बढ़ जाने का खतरा पैदा हो गया है। गाजा के अधिकारियों के मुताबिक शनिवार से बढ़े तनाव में इस्राइली हमलों में कम से कम 6 चरमपंथियों सहित 16 फिलीस्तीनी नागरिक मारे गए। वहीं, इस्राइल ने एक बच्चे एवं उसकी गर्भवती मां के मारे जाने के गाजा की रिपोर्ट को गलत बताया है।

गाजा से हुए हमले में मारे गए थे 3 नागरिक

सेना ने कहा कि रविवार को दक्षिणी इस्राइल में गाजा द्वारा दागे गए रॉकेट और मिसाइल हमलों में 3 लोग मारे गए थे। इनमें से 2 की इस्राइली नागरिक के रूप में पुष्टि हुई थी। हमले में गाजा सिटी की कई इमारतें नष्ट हो गईं। इस्राइली पुलिस और अस्पताल ने कहा कि गाजा सीमा के पास एशकेलोन शहर में रॉकेट हमले में 58 वर्ष के एक इस्राइली व्यक्ति की मौत हो गई। इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि उन्होंने ‘सेना को गाजा पट्टी में आतंकवादी तत्वों पर बड़े पैमाने पर हमले जारी रखने का निर्देश दिया है।’

इस्राइली सेना ने 200 आतंकी ठिकानों को बनाया निशाना
उन्होंने कहा कि उन्होंने गाजा के पास पहले से तैनात सैनिकों को मजबूत करने के लिए टैंक, तोपें और सैनिकों को भी भेजने का आदेश दिया है। यह ताजा झड़प गाजा पट्टी पर शासन करने वाले हमास के साथ हुई है जो संघर्षविराम के तहत इस्राइल से कुछ और छूट की मांग कर रहा है। इस्राइल ने कहा कि फिलीस्तीनी सीमा क्षेत्र से शनिवार से अब तक करीब 430 रॉकेट दागे गए हैं और उसके हवाई रक्षा बलों ने कई को रास्ते में ही नष्ट कर दिया। इस्राइली सेना ने कहा कि उसके टैंकों और विमानों ने करीब 200 आतंकवादी ठिकानों को निशाना बनाया।

तबाह हो गईं गाजा शहर की 2 बहुमंजिला इमारतें
सैन्य प्रवक्ता जोनाथन कोनरीकस ने कहा कि इन ठिकानों में एक सुरंग भी शामिल थी जहां से चरमपंथी हमलों को अंजाम देते थे। गाजा शहर की 2 बहुमंजिली इमारतें तबाह हो गईं। इस्राइल ने दावा किया कि इन इमारतों में से एक में हमास का सैन्य खुफिया एवं सुरक्षा कार्यालय भी था और अन्य इमारत में हमास एवं इस्लामिक जिहाद के कार्यालय थे। वहीं तुर्की ने कहा है कि उसकी सरकारी संवाद समिति अनाडोलु का एक कार्यालय उस इमारत में स्थित था। साथ ही उसने इस हमले की निंदा की।

इस्राइल की कार्रवाई पर भड़के तुर्की के राष्ट्रपति
गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हमले में 14 माह के बच्चे एवं उसकी गर्भवती मां के साथ ही 2 फिलीस्तीनी व्यक्तियों की मौत हो गई जबकि 40 लोग घायल हुए। राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने ट्वीट किया, ‘गाजा में अनाडोलु एजेंसी के कार्यालय पर हुए इस्राइली हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं।’ एर्दोआन फिलीस्तीनी मामले के समर्थक हैं। वहीं विदेश मंत्री मेवलट कावुसोगलु ने कहा कि आम नागरिकों के खिलाफ हुए ये हमले ‘मानवता के विरुद्ध अपराध हैं।’ गोलाबारी जारी रहने के बीच इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहु ने सुरक्षा प्रमुखों के साथ विचार-विमर्श किया।

अमेरिका ने कहा, इस्राइल की जवाबी कार्रवाई को समर्थन
हमास के सहयोगी इस्लामिक जिहादी ने एक बयान में कुछ रॉकेट दागे जाने की जिम्मेदारी ली और कहा कि वह और रॉकेट दागने के लिए तैयार हैं। मिस्र एवं संयुक्त राष्ट्र के अधिकारी स्थिति को शांत करने को लेकर चर्चा कर रहे हैं जबकि यूरोपीय संघ ने गाजा से फौरन रॉकेट दागना बंद करने को कहा है। अमेरिका ने इस्राइल पर गाजा चरमपंथियों के रॉकेट हमलों की निंदा की और कहा कि वह ‘इन घृणित हमलों के खिलाफ आत्मरक्षा के उसके अधिकार’ का पूर्ण समर्थन करता है।