PM पद के लिए राहुल गांधी के नाम की पैरवी कर चुके DMK चीफ ने KCR को नहीं दिया मिलने का समय

नई दिल्ली। थर्ड फ्रंट की कवायद में जुटे तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव (केसीआर) को शुरुआती झटका लगा है. तमिलनाडु की प्रमुख विपक्षी पार्टी डीएमके के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने चंद्रशेखर राव को मिलने का समय नहीं दिया है. दोनों नेताओं की 13 मई को मुलाकात होने वाली थी.

सूत्रों ने बताया कि स्टालिन इन दिनों तमिलनाडु में चार विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए प्रचार में व्यस्त हैं. टीआरएस सांसद और तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रेशखर राव की बेटी के कविता ने भी कहा कि डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन और चंद्रशेखर राव के बीच मुलाकात तय नहीं है.

ध्यान रहे कि कांग्रेस और डीएमके तमिलनाडु में गठबंधन कर चुनाव लड़ रही है. यही नहीं कई मौकों पर स्टालिन राहुल गांधी की तारीफ करते रहे हैं. साथ ही उन्होंने राहुल गांधी को पीएम पद के लिए उचित उम्मीदवार बनाया है.

चंद्रशेखर राव ने सोमवार को केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजय से मुलाकात की थी. विजयन केरल में माकपा के नेतृत्व वाली एलडीएफ सरकार के प्रमुख हैं. कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ यहां विपक्ष में है.

केसीआर केंद्र में गैर कांग्रेस और गैर बीजेपी गठबंधन के पक्ष में है. वे चुनाव के ऐलान से पहले भी थर्ड फ्रंट बनाने की कवायद कर चुके हैं. लेकिन इसमें कोई सफलता नहीं मिली. अब उन्होंने एक बार फिर से चुनाव के बाद बीजेपी या कांग्रेस को पूर्ण बहुमत नहीं मिलने की उम्मीद जताई है और वह थर्ड फ्रंट की सरकार की संभावना तलाश रहे हैं. लेकिन उन्हें शुरुआत में ही झटका लगा है.

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए पांच चरणों में 424 सीटों पर वोट डाले जा चुके हैं. बाकी के बचे दो चरणों में 12 मई और 29 मई को 118 सीटों पर वोट डाले जाएंगे.