84 सिख दंगों पर बैकफुट पर कांग्रेस, राहुल बोले ‘दुखद त्रासदी’, माफी मांगे पित्रोदा

नई दिल्ली। 1984 सिख दंगों पर सैम पित्रोदा के बयान से कांग्रेस बैकफुट पर आ गई है। राहुल गांधी ने फेसबुक पर सफाई देते हुए पित्रोदा 1984 दंगों को लेकर सैम पित्रोदा की प्रतिक्रिया से पल्‍ला झाड़ लिया। उन्‍होंने अपने फेसबुक पोस्‍ट में कहा कि वे सैम पित्रोदा के बयान से सहमत नहीं हैं। उन्‍होंने बयान को लेकर सैम पित्रोदा को नसीहत देते हुए कहा कि सैम पित्रोदा को बयान को लेकर माफी मांगनी चाहिए।

राहुल गांधी ने अपने पोस्‍ट में 1984 दंगों को दुखद त्रासदी बताया। उन्‍होंने कहा इस मामले में न्‍याय अवश्‍य होना चाहिए। फेसबुक पर लिखा गुनहगारों को सजा मिलनी चाहिए। साथ ही कहा कि सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह पहले ही इसके लिए माफी मांग चुके हैं।

Rahul Gandhi Facebook Wall

इससे पहले 1984 सिख दंगों पर दिए अपने बयान पर सैम पित्रोदा ने सफाई देते हुए कहा था कि हिन्दी कम आने की वजह से बयान को तोड़- मरोड़कर पेश किया गया। हालांकि अब तक पित्रोदा ने बयान को लेकर माफी नहीं मांगी है। गुरूवार को सैम पित्रोदा ने सिख दंगों पर पूछे गए सवाल के जवाब में विवादित बयान देते हुए कहा था कि ‘दंगा हुआ तो हुआ।’

पित्रोदा के बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित पूरी भाजपा हमलावर हो गई थी। शुक्रवार को अपनी चुनावी रैलियों में प्रधानमंत्री ने सैम पित्रोदा के सहारे 1984 दंगों को लेकर कांग्रेस पर जमकर हमला बोला था।