पंजाब में कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या, मतदान केंद्र के बाहर फायरिंग; बंगाल में भी हिंसक घटनाएं

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण के मतदान के दौरान रविवार को पश्चिम बंगाल और पंजाब में हिंसक घटनाएं सामने आईं। पंजाब के खडूर साहिब में कांग्रेस कार्यकर्ता की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। बठिंडा में मतदान केंद्र के बाहर फायरिंग हुई। राज्य में 20 से ज्यादा लोग जख्मी हुए। उधर, बंगाल के जाधवपुर, बैरकपुर, कोलकाता और बसीरहाट के मतदान केंद्रों पर मारपीट, फर्जी मतदान और हिंसक घटनाएं हुईं।

बिहार की राजधानी पटना में लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप के बाउंसरों की पत्रकारों से झड़प हो गई। आरोप है कि तेज प्रताप मतदान कर निकल रहे थे, इसी दौरान फोटोग्राफर रंजन राही के पैर पर उनकी गाड़ी का पहिया चढ़ गया। कहासुनी के दौरान पत्रकारों के साथ मारपीट की गई। कार की शीशा टूटने के बाद तेज प्रताप ने कहा कि उन पर जानलेवा हमला हुआ। उन्होंने मीडियाकर्मी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। चुनाव आयोग ने डीएम कुमार रवि से घटना की रिपोर्ट मांगी।

पंजाब: कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या

बठिंडा जिले के तलवंडी साबो में कांग्रेस नेता खुशबाज सिंह ने अकाली नेताओं के साथ बहस के दौरान गोली चलाई। इसके बाद लोगों ने कांग्रेस का बूथ तोड़ दिया। दूसरी ओर, खडूर साहिब सीट के एक गांव में अज्ञात लोगों ने वोट डालने जा रहे कांग्रेस कार्यकर्ता की हत्या कर दी।

बंगाल: तृणमूल कार्यकर्ताओं पर फर्जी मतदान का आरोप

जाधवपुर से भाजपा प्रत्याशी अनुपम हाजरा का आरोप है कि तृणमूल के गुंडों ने उनके एक कार्यकर्ता को पीटा। कार पर हमला कर ड्राइवर की भी पिटाई की गई। हाजरा ने कहा कि तृणमूल की महिला कार्यकर्ता मुंह पर कपड़ा बांधकर वोट देने आ रही हैं। इससे उनकी पहचान मुश्किल है। इस पर आपत्ति जताई तो भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की गई। दूसरी ओर, बसीरहाट से भाजपा प्रत्याशी सायंतन बसु और उनके समर्थकों ने मतदान केंद्र के बाहर प्रदर्शन किया। शनिवार रात को बैरकपुर के भाटपाड़ा में भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हुई थी। दो गाड़ियों को आग लगाई गई और बम फेंके गए।