क्या इस बार नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में अमेरिका, रूस और चीन के प्रमुख आ सकते हैं?

नई दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूसरे शपथ ग्रहण समारोह में दुनिया के सबसे ताकतवर देशों के प्रमुखों को न्योता दिए जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं. द एशियन एज की खबर के मुताबिक पी-5 देशों (अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन) के अलावा जापान, जर्मनी, इजरायल के राष्ट्राध्यक्षों को भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जा सकता है. इसके अलावा इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जैसे सदस्य देशों को भी न्योता भेजा जा सकता है. साथ ही, पिछली बार की तरह इस बार भी सार्क देशों के प्रमुखों को नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बुलाने की संभावना है.

हालांकि सरकार के सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री कार्यालय से मंजूरी मिलने के बाद ही इस बारे में कोई कदम उठाया जाएगा. उनके मुताबिक इस बारे में अभी चर्चा करना जल्दबाजी होगी. यह भी देखना होगा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को न्योता दिया जाए या नहीं. बता दें कि सार्क देशों में पाकिस्तान भी शामिल है. इस बीच अटकलबाजी जारी है कि डोनाल्ड ट्रंप, व्लादिमीर पुतिन और शी जिनपिंग मोदी की शपथ के गवाह बन सकते हैं. खबर के मुताबिक अगर इनमें से कुछ नेता कार्यक्रम में आते हैं तो इससे न सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी की वैश्विक नेता की छवि बनेगी, बल्कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बनने के भारत प्रयासों को भी बल मिल सकता है.