मेट्रो, DTC-क्लस्टर बसों में मुफ्त सफर कर पाएंगी महिलाएं, CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान

नई दिल्ली। दिल्ली में अगले साल की शुरुआत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार ने बड़ा ऐलान किया. दिल्ली सरकार ने महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी बसों में फ्री यात्रा का तोहफा दिया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज (सोमवार) प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में महिलाएं असुरक्षित महसूस करती हैं. महिलाओं की सुरक्षा के लिए 2 बड़े फैसले लिए गए हैं. दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से छुटकारा दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा का फैसला किया है, इससे उन्हें सार्वजनिक परिवहन के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहन मिलेगा. महिलाओं को फ्री यात्रा देने में डीएमआरसी को होने वाले नुकसान की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी.

ANI

@ANI

Delhi CM Arvind Kejriwal: On all DTC buses, cluster buses and metro trains women will be allowed to travel free of cost so that they have a safe travel experience and can access modes of transport which they were not able to, due to high prices.

2,192 people are talking about this

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सक्षम महिलाएं चाहें तो टिकट खरीद सकती हैं. उन्हें सब्सिडी का इस्तेमाल न करने के लिए प्रेरित किया जाएगा. केजरीवाल ने कहा कि दो से तीन महीने के अंदर इसे लागू कर दिया जाएगा.

ANI

@ANI

Delhi CM: Subsidy won’t be imposed on anyone. There are several women who can afford these modes of transport. Those who can afford, can purchase tickets, they needn’t take subsidy. We encourage those, who can afford, to buy tickets&not take subsidy so that others could benefit.

ANI

@ANI

Delhi CM Arvind Kejriwal: On all DTC buses, cluster buses and metro trains women will be allowed to travel free of cost so that they have a safe travel experience and can access modes of transport which they were not able to, due to high prices.

View image on Twitter
434 people are talking about this

केजरीवाल ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए 2 बड़े फैसले लिए गए हैं. एक तो सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए ढाई साल से कोशिश कर रहे थे. डेढ़ लाख सीसीटीवी लगने का टेंडर दिया था, 70 हजार सीसीटीवी का सर्वे हो चुका है. केजरीवाल ने कहा कि 8 जून से कैमरे लगेंगे और दिसंबर तक लगने की उम्मीद है.

बसों और मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसदी महिलाएं होती हैं. इसके मुताबिक मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर करीब एक हजार करोड़ प्रतिवर्ष का खर्च आएगा जबकि करीब 200 करोड़ रुपये का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा. अनुमान है कि महिलाओं के लिए दिल्ली मेट्रो और डीटीसी की बसों में इस योजना को लागू करने में सरकार पर प्रतिवर्ष करीब 1200 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. इस सुविधा को लागू करने में आने वाले खर्च की भरपाई दिल्ली सरकार करेगी.

ANI

@ANI

Delhi CM: Initially we’d told Centre not to increase prices of tickets, they didn’t agree. We told them we’ve 50-50 partnership, let’s give 50-50 subsidy on raised prices, they didn’t agree. Delhi govt will bear the fare of what we’re going to do.We needn’t take approval for this

299 people are talking about this

दिल्ली सरकार ने इस योजना को लागू करने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी)  के अधिकारियों के साथ बैठक की और उनसे पूछा है कि इस योजना को कैसे लागू किया जा सकता है. इसके लिए मुफ्त पास की व्यवस्था होगी या कोई अन्य विकल्प होगा.

बिजली के बिल का फिक्स्ड चार्ज घटाने पर विचार

बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को नई दिल्ली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि उनकी सरकार बिजली बिल में फिक्स्ड चार्ज को घटाने के लिए शहर के विद्युत विनियामक के साथ बात कर रही है. मुख्यमंत्री ने यह भी दावा किया कि दिल्ली सरकार से परामर्श किए बगैर दिल्ली विद्युत विनियामक आयोग (डीईआरसी) ने पिछले साल विद्युत शुल्क का फिक्स्ड चार्ज बढ़ा दिया था.

अरविंद केजरीवाल ने कहा, अगले महीने नया शुल्क निर्धारित किया जाना है. हमने डीईआरसी से फिक्स्ड चार्ज को पहले के स्तर पर लाने को कहा है. इस पर उनके राजी होने की उम्मीद है. गौरतलब है कि घरेलू उपभोक्ताओं के लिए मासिक फिक्स्ड चार्ज 2 किलोवाट तक के लिए 20 रुपये से बढ़ाकर 125 रुपये कर दिया गया. दिल्ली सरकार ऐसे उपभोक्ताओं को सब्सिडी मुहैया करती है.

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 9 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में 40 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन उसे महज एक सीट पर ही जीत मिली है. इस चुनाव में झटका लगने के बाद पार्टी ने अगले साल होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव की तैयारी जोर शोर से शुरू कर दी है.