World Cup 2019: धोनी ‘बलिदान बैज’ वाला ग्लव्स पहनेंगे या नहीं, यह आज पता चलेगा: रोहित शर्मा

भारत और ऑस्ट्रेलिया आईसीसी विश्व कप (World Cup 2019) में रविवार को भिड़ेंगे. यह मैच दोपहर तीन बजे (भारतीय समय) से खेला जाएगा. मैच से एक दिन पहले उप कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने टीम इंडिया की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने मैच पर काफी कुछ कहा, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के ग्लव्स विवाद से बचते हुए नजर आए. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि धोनी रविवार को अपने दस्तानों पर सेना के चिन्ह (बलिदान बैज) का इस्तेमाल करते हैं या नहीं? इस बात का पता मैच के दिन ही चलेगा.

रोहित शर्मा जब प्रेस कॉन्फ्रेंस में आए तो उनसे मैच की तैयारी के साथ-साथ धोनी के ग्लव्स विवाद (Balidaan Badge Row) पर भी सवाल किए गए. रोहित ने इस बारे में कहा, ‘मुझे नहीं पता कि इसे लेकर क्या हो रहा है. मुझे इस पर कुछ नहीं कहना है. शायद आपको कल पता चले.’ आईसीसी विश्व कप-2019 में भारत के दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच में धोनी के दस्तानों पर सेना का चिन्ह बना था. इसे लेकर आईसीसी ने आपत्ति जताई थी. उसने बीसीसीआई से कहा था कि वह धोनी से अपने दस्तानों पर से यह चिन्ह हटाने को कहे. बीसीसीआई ने आईसीसी से धोनी को यह चिन्ह बनाए रखने की मंजूरी मांगी थी, जिसे आईसीसी ने नकार दिया था.

रोहित शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 122 रन की शतकीय पारी खेली थी. उस पारी पर रोहित ने कहा कि यह विशेष पारी थी. उन्होंने कहा, ‘मेरी साउथैम्पटन में खेली गई 122 रन की नाबाद पारी विशेष थी. मेरी सर्वश्रेष्ठ पारी. बल्लेबाजी के लिए वह पिच आसान नहीं थी. मुझे धैर्य के साथ खेलना पड़ा था. मैं जिस तरह की बल्लेबाजी करता हूं वो उस तरह की पारी नहीं थी.’

रिकॉर्ड तोड़ने के बारे में रोहित ने कहा, ‘मैं निजी तौर पर किसी पुराने रिकार्ड के बारे में नहीं सोचता हूं. मुझे अपनी टीम के लिए काम करना होता है. यही बात मायने रखती है. सलामी बल्लेबाजी शुरुआत में मेरे लिए आसान नहीं थी, लेकिन वो सफर जारी है. मैं अपने देश के लिए ज्यादा से ज्यादा मैच जीतना चाहता हूं.’

रोहित ने नंबर-4 के लिए लोकेश राहुल की पारी का समर्थन किया है. राहुल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नंबर-4 पर आकर अच्छी बल्लेबाजी करते हुए अहम साझेदारी निभाई थी. राहुल पर उन्होंने कहा, ‘राहुल ने पिछले मैच में ज्यादा रन नहीं किए लेकिन वह अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे जिससे मुझे फायदा हुआ. उनके 26 रन के दम पर मैं बड़ी साझेदारी करने में सफल रहा. मुझे इस टूर्नामेंट में उनसे काफी उम्मीदें हैं.’