टीम इंडिया के इन 7 सितारों ने वर्ल्ड कप में 7 बार पाकिस्तान को चटाई है धूल, टॉप पर हैं सचिन

ICC Cricket World Cup 2019 India vs Pakistan Match: मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में एक बार फिर वर्ल्ड कप की सबसे प्रतिद्वंदी टीमों का आमना-सामना हुआ। भारत और पाकिस्तान के बीच खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के 22वें मुकाबले में भारत को 89 रन से जीत मिली। इसी जीत के साथ टीम इंडिया ने पाकिस्तान पर वर्ल्ड कप के इतिहास में कभी ना हारने का रिकॉर्ड कायम किया हुआ है।

इस मुकाबले में पाकिस्तान ने भले ही टॉस जीता हो लेकिन मैच टीम इंडिया और दिल रोहित शर्मा ने जीता। रोहित शर्मा ने इस मुकाबले में अपने वनडे करियर का 24वां शतक जड़ा। इसी की बदौलत भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अपना विजयी अभियान जारी रखा। क्या आप जानते हैं कि आज के मैच में जिस तरह रोहित शर्मा हीरो रहे हैं। उसी तरह पिछले 6 मैचों में कौन सा खिलाड़ी मैन ऑफ द मैच बना है। अगर नहीं जानते तो इस खबर को आगे पढ़ते जाइए….

सातवीं जीत के हीरो हिटमैन 

वर्ल्ड कप 2019 में पाकिस्तान खिलाफ भारत को मिली इस बड़ी जीत में रोहित शर्मा ने शानदार शतक जड़ा। रोहित शर्मा ने पाकिस्तानी तेज गेंदबाजों को जमकर मार लगाई है। रोहित ने 114 गेंदों में 14 चौके और 3 छक्के की मदद से 140 रन बनाए। रोहित शर्मा को इस पारी के लिए मैन ऑफ द मैच का अवार्ड मिला। इस वर्ल्ड कप में ये रोहित शर्मा का दूसरा शतक था।

छठी जीत में विराट थे हीरो

साल 2015 के वर्ल्ड कप में भारत ने पाकिस्तान को 76 रनों से पीटा था। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए विराट कोहली ने 107 रन की दमदार पारी खेली थी। भारत ने सात विकेट खोकर 300 रन बनाए थे, जिसके जवाब में पाकिस्तानी टीम 224 रन पर ढेर हो गई थी। इस मैच में भारत की ओर से मुहम्मद शमी ने चार विकेट चटकाए थे। लेकिन, मैन द मैच शतकवीर विराट कोहली रहे थे।

पांचवीं जीत में सचिन बने किंग 

2011 के वर्ल्ड कप में दूसरी बार खिताब जीतने वाली भारतीय टीम का सेमीफाइनल में सामना पाकिस्तान से हुआ। मेजबान टीम ने भारत ने मोहाली में 29 रनों से पाकिस्तान को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ विकेट खोकर 260 रन बनाए थे, जिसके जवाब में पाकिस्तान की टीम 231 रनों पर ही ढेर हो गई थी। इस मुकाबले में सचिन तेंदुलकर ने 85 रनों की शानदार पारी खेली थी, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया।

चौथी जीत में भी सचिन थे हीरो

2003 के वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान का सामना सेंचुरियन में हुआ। इस मुकाबले में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सईद अनवर (101) के शतक की बदौलत सात विकेट खोकर 273 रन बनाए। लेकिन, टीम इंडिया ने 274 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए और पाकिस्तान के गेंदबाजों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए 45.4 ओवर में ये लक्ष्य 6 विकेट रहते हासिल कर लिया। इस मुकाबले में मैन ऑफ द मैच तेंदुलकर ने 98 रनों की अहम पारी खेली।

वर्ल्ड कप 1999 में वेंकटेश का जलवा

मैनचेस्टर में हुए इस मुकाबले में भारत ने एक बार फिर दमदार प्रदर्शन किया और 47 रनों से जीत दर्ज की। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और छह विकट खोकर 227 रन बनाए। राहुल द्रविड़ ने टीम की ओर से सबसे अधिक 61 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की पूरी टीम महज 180 रनों पर सिमट गई। पाकिस्तान की ओर से इंजमाम उल हक ने 41 रन बनाए। मैन ऑफ द मैच वेंकटेश प्रसाद ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए पांच विकेट चटकाए।

वर्ल्ड कप 1996 में सिद्धू ने दिलाई जीत

1996 विश्व कप में दोनों टीमें क्वार्टर फाइनल में भिड़ीं। इस बार भी भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और सलामी बल्लेबाज नवजोत सिंह सिद्धू के 93 रनों की बदौलत 287 रन बनाए। पाकिस्तान ने बेहतरीन शुरुआत की, लेकिन अनिल कुंबले और वेंकटेश प्रसाद के तीन-तीन विकेट की बदौलत पाकिस्तानी टीम 248 रनों पर पवेलियन लौट गई। भारत यह मुकाबला 39 रनों से जीता और सिद्धू मैन ऑफ द मैच बने।

वर्ल्ड कप 1992 की पहली जीत में तेंदुलकर थे हीरो

विश्व कप में पहली बार दोनों टीमें 1992 में ही भिड़ीं, जिसमें टीम इंडिया को जीत मिली। यह सिलसिला आज तक जारी है। सिडनी में हुए मैच में टॉस जीतकर भारत ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और सचिन तेंदुलकर के नाबाद 54 रनों की मदद से सात विकेट के नुकसान पर 216 रन बनाए। इसके जवाब में पाकिस्तान की टीम 173 रनों पर ही सिमट गई। पाकिस्तान की ओर से आमिर सोहेल ने 62 रन बनाए थे। भारत की ओर से कपिल देव, मनोज प्रभाकर और जवागल श्रीनाथ ने दो-दो विकेट लिए थे। युवा तेंदुलकर को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया।