बंगाल: NRS अस्पताल में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, ममता बनर्जी बोलीं-सारे मुद्दे सुलझाए गए

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों की हड़ताल खत्म हो गई है. कोलकाता के NRS अस्पताल के डॉक्टरों ने सीएम ममता बनर्जी से बातचीत के बाद स्ट्राइक खत्म करने की घोषणा की. डॉक्टरों से बातचीत के बाद सीएम ममता बनर्जी ने दावा किया है कि डॉक्टरों के साथ सभी विवादास्पद मुद्दे सुलझा लिए गए हैं. ममता बनर्जी ने सरकारी अस्पतालों में शिकायत निवारण सेल बनाने की सरकारी डॉक्टरों की मांग मान ली है. यही नहीं ममता बनर्जी ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा को प्रत्येक अस्पताल में एक नोडल पुलिस अधिकारी तैनात करने को कहा है. राज्य में मारपीट की घटना के बाद से ही डॉक्टर बीते 7 दिनों से हड़ताल पर थे.

ANI

@ANI

Jr doctors of Kolkata: We extend our heartfelt gratitude to all srs, jrs, patients, common people, intelligentsia & medical fraternity of the country who spontaneously extended their support&made this movement possible. We hope to maintain this unity in future.

45 people are talking about this

हालांकि ममता बनर्जी ने शनिवार को ही चिकित्सकों को बातचीत के लिए बुलाया था, लेकिन डॉक्टर्स ने इस ऑफर को ठुकरा दिया था. इसके बाद हड़ताल कर रहे डॉक्टर्स सीएम ममता बनर्जी से मिलने को राजी हो गए हैं. डॉक्टर्स अब बिना मीडिया की मौजूदगी के सीएम ममता बनर्जी से सचिवालय में मुलाकात करेंगे.

इस मुलाकात पर डॉक्टर्स का कहना है कि सीएम के साथ मुलाकात की पूरी प्रक्रिया को रिकॉर्ड किया जाए. इससे पहले रविवार को ढाई घंटे की मीटिंग के बाद डॉक्टर्स के एक प्रवक्ता ने कहा था कि हम लोग इस गतिरोध को खत्म करने को तैयार हैं, हम सीएम से बात करने को तैयार हैं, जहां वे बात करना चाहेंगी, बशर्ते ये खुले में हो, मीडिया की मौजूदगी में हो, किसी बंद कमरे में नहीं.

बता दें कि 10 जून को नील रत्न सरकार मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी. इसके बाद गुस्साए परिजनों ने मौके पर मौजूद डॉक्टरों को गालियां दीं. इस पर डॉक्टरों ने परिजनों के माफी न मांगने तक प्रमाणपत्र नहीं देने की बात कही. इस मामले में फिर हिंसा भड़क गई, कुछ देर बाद हथियारों के साथ भीड़ ने हॉस्टल में हमला कर दिया.

इसमें दो जूनियर डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हुए जबकि कई और को भी चोटें आईं. इस पूरे मामले पर ममता बनर्जी ने हड़ताल वाले डॉक्टरों की निंदा की तो मामला तूल पकड़ता गया.