टीम इंडिया की भगवा जर्सी पर मचा बवाल, कांग्रेस-सपा ने किया विरोध तो सीधे ICC से मिला मुंहतोड़ जवाब

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्‍ड कप 2019 में भारत के प्रदर्शन से ज्‍यादा अब जर्सी को लेकर चर्चा हो रही है । सोशल मीडिया से निकलकर जर्सी को लेकर विवाद राजनीतिक गलियारों तक जा पहुंचा है । कांग्रेस- समाजवादी पार्टी के नेता टीम इंडिया की नई जर्सी के रंग से नाराज नजर आ रहे हैं । सरकार विरोधी दलों ने खेल को भी राजनीति के रंग में डुबो दिया है । टीम के लिए जर्सी का रंग भगवा ही क्‍यों चुना गया अब इस पर विवाद हो रहा है ।

कांग्रेस – सपा का विरोध
कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने टीम इंडिया की जर्सी के इस रंग को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदीसरकार पर निशाना साधा है । पार्टियों का कहना है कि जर्सी के कलर के लिए भगवा रंग को ही क्‍यों चुना गया । उनका आरोप है कि बीसीसीआई ने यह रंग केंद्र सरकार को खुश करने के लिए ही चुना है । जबकि बीजेपी ने इन आरोपों को खारिज किया है । हालांकि अभी तक आधिकारिक रूप से टीम इंडिया की नई जर्सी सामने नहीं आई है, लेकिन राजनति इस पर जोरों से होनी शुरू हो गई है ।

आईसीसी का जवाब
मामले में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की ओर से बयान आया है । उन्‍होने कहा है कि टीम इंडिया की जर्सी का ये कलर कॉम्बिनेशन उनकी तरफ से बीसीसीआई को भेजा गया था । आपको बता दें कि भारत और इंग्‍लैंड के बीच 30 जून को बर्मिंघम में मुकाबला होना है, और चूंकि इंग्‍लैंड की जर्सी का रंग नीला है जो कि टीम इंडिया का भी है, ऐसे में नियमानुसार एक टीम को अपनी जर्सी का रंग बदलना होगा । क्‍योंकि इंग्‍लैंड मेजबान टीम है इसलिए उन्‍हें अपनी पूर्व ‌निर्धारित रंग की जर्सी पहनने की अनुमति होती है ।

सपा-कांग्रेस के बयान
मामले में समाजवादी पार्टी के नेता अबु आजमी ने केन्‍द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा – ‘मोदी पूरे देश को भगवे में रंगना चाहते हैं । मोदीजी को बताना चाहता हूं कि झंडे को कलर देने वाला मुस्लिम था । तिरंगे में और भी रंग है सिर्फ भगवा ही क्यों । तिरंगे के रंग में उनकी जर्सी होती तो बेहतर होता।’ वहीं कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री नसीम खान ने अपनी राय देते हुए कहा है कि जब से मोदी सरकार आई है तब से भगवा राजनीति शुरू हुई है । तिरंगे का सम्‍मान होना चाहिए । वहीं बीजेपी ने इन सभी आरोपों को खरिज किया है, बीजेपी की ओर से नेता राम कदम ने कहा कि भगवा रंग को लेकर विपक्ष को क्या आपत्ति है ।

आईसीसी की ओर से आया कलर कॉम्बिनेशन
आईसीसी की ओर से कहा गया है कि नई जर्सी के लिए कलर कॉम्बिनेशन उनकी ओर से बीसीसीआई को दिया गया था । भारतीय बोर्ड ने वहीं कॉम्बिनेशन चुना जो उन्‍हें ठीक लगा । आईसीसी की ओर से जारी बयान में कहा गया है – ‘जर्सी बदलने का विचार इसलिए आया क्‍योंकि इंग्‍लैंड भी नीली जर्सी ही पहनता है । नया डिजाइन भारत की पुरानी टी20 जर्सी से लिया गया है जिसमें भगवा रंग है।’ आपको बता दें क्रिकेट वर्ल्‍ड कप में इस समय भारत 5 मैचों में 9 अंक के साथ तीसरे पायदान पर है ।

186 people are talking about this