गुलाम नबी आजाद पर भड़के राहुल गांधी, हरियाणा पर रिपोर्ट को लेकर पूछा- क्या हैं इसके मायने

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद हरियाणा में बैठक करने पहुंचे राहुल गांधी राज्यसभा सांसद और हरियाणा के प्रभारी गुलाम नबी आजाद पर बरस पड़े. बैठक के दौरान ही राहुल गांधी ने गुलाम नबी आजाद को जमकर खरी खोटी सुनाई. बैठक के दौरान हरियाणा कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने राज्य में पार्टी को मिली हार पर एक रिपोर्ट सौंपी.

रिपोर्ट देख गुस्साए राहुल गांधी ने बैठक में कहा, ”जहां आपने (गुलाम नबी आजाद) कहा मैंने वहीं प्रचार किया. जिसको टिकट देने को कहा उसे ही टिकट दिया, तो अब इस रिपोर्ट के क्या मायने हैं?”

मामला बढ़ता देख बैठक में मौजूद कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने बीच बचाव किया तब जा कर मामला कहीं शांत पड़ा. उन्होंने कहा, ”छोड़िए, जो हुआ अब आगे की सोचते हैं.” बैठक के दौरान राहुल गांधी अपने इस्तीफे पर अड़े रहे.

बैठक के दौरान राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के अपने फैसले पर अडिग रहे. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की पराजय पर जवाबदेही तय करने के लिए इस्तीफे का फैसला किया हूं और इससे पीछे हटने का सवाल ही नहीं उठता है.

राहुल गांधी ने गुरुवार को पार्टी की हरियाणा इकाई के नेताओं के साथ बैठक को संबोधित करते हुए ये बातें तब कहीं जब नेताओं उनसे अपना इस्तीफा वापस लेने और पार्टी का नेतृत्व जारी रखने का अनुरोध किया.

आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर राहुल ने नेताओं को साफ तौर पर कहा कि इस बारे में वे आपस में ही चर्चा करें, जिससे राज्य की इकाई विचित्र स्थिति में फंस गयी.

सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में राज्य के प्रभारी गुलाम नबी आजाद, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा, प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर, पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा, हरियाणा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय सिंह यादव और कई अन्य नेता शामिल हुए.