World Cup 2019: पाकिस्तान और सेमीफाइनल के बीच खड़े हैं इंग्लैंड और बांग्लादेश

पाकिस्तान आईसीसी क्रिकेट विश्व कप ( ICC World Cup 2019) में गजब की वापसी करते हुए सेमीफाइनल के करीब पहुंच गया है. टूर्नामेंट के शुरुआती पांच मैचों में सिर्फ एक जीतने वाले पाकिस्तान ने अपने पिछले तीनों मैच जीते हैं. इस तरह वह आईसीसी विश्व कप के प्वाइंट टेबल में चौथे नंबर पर आ गया है. अब उससे आगे सिर्फ ऑस्ट्रेलिया, भारत और न्यूजीलैंड ही हैं.

पाकिस्तान ने शनिवार को खेले गए मैच में अफगानिस्तान को रोमांचक मुकाबले में तीन विकेट से हराया. यह उसकी टूर्नामेंट में चौथी जीत है. इस जीत के साथ ही विश्व कप के प्वाइंट टेबल में पाकिस्तान के 9 अंक हो गए हैं. अब उसके और सेमीफाइनल के बीच दो ही टीमें दिख रही हैं. ये टीमें इंग्लैंड और बांग्लादेश की हैं. हम बताते हैं कि ऐसा क्यों है.

दरअसल, प्वाइंट टेबल में ऑस्ट्रेलिया 12 अंक लेकर सेमीफज्ञइनल में पहुंच चुका है. भारत व न्यूजीलैंड 11 अंक लेकर सेमीफाइनल में अपनी जगह लगभग पक्की कर चुके हैं. अब चौथी सेमीफाइनलिस्ट के लिए पाकिस्तान के अलावा इंग्लैंड, बांग्लादेश और श्रीलंका ही रेस में हैं. इन टीमों के समीकरण को ऐसे समझें.

1. पाकिस्तान का अब एक ही मैच बाकी है. यह मैच बांग्लादेश से होना है. अगर बांग्लादेश जीता तो पाकिस्तान के नौ अंक ही रह जाएंगे. वहीं, बांग्लादेश के भी इतने ही अंक हो जाएंगे. बांग्लादेश का मैच भारत से भी होना है. अगर वह भारत से जीत जाए या मैच में बारिश हो जाए तो बांग्लादेश के अंक पाकिस्तान से अधिक हो जाएंगे. यानी, पाकिस्तान का खेल खत्म.

2. पाकिस्तान अगर बांगलादेश को हराता है तो उसके 11 अंक हो जाएंगे. ऐसे में वह सेमीफाइनल की रेस में बना रहेगा. लेकिन इंग्लैंड फिर भी उसकी उम्मीदों पर पानी फेर सकता है.

3. इंग्लैंड के अभी दो मैच बाकी हैं. उसे भारत और न्यूजीलैंड से खेलना है. अगर इंग्लैंड अपने दोनों मैच जीत ले तो पाकिस्तान की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है. अगर इंग्लैंड एक मैच हारे या दोनों हार जाए तो वह पाकिस्तान के अंकों से पीछे रहेगा. यही कारण है कि पाकिस्तानी प्रशंसक अब इंग्लैंड की हार की दुआएं कर रहे हैं.

4. श्रीलंका के अभी सात मैचों से छह अंक हैं. अगर वह अपने बाकी बचे दोनों मैच जीते तब 10 अंक तक पहुंच सकता है. लेकिन इसकी गुंजाइश नहीं दिखती. वजह, श्रीलंका को अभी भारत और वेस्टइंडीज से भिड़ना है. ऐसे में उसके लिए ये दोनों मैच जीतना आसान नहीं होगा.