BJP नेता प्रियंका शर्मा की रिहाई में देरी होने पर SC ने ममता सरकार को भेजा अवमानना नोटिस

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बनावटी फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के मामले में पश्चिम बंगाल सरकार के खिलाफ अवमानना याचिका दायर की गई है. यह याचिका गिरफ्तार हुई बीजेपी कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा के भाई ने दायर की है. याचिका में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट से तुरंत रिहाई का आदेश मिलने के बावजूद 2 दिन बाद रिहा किया गया था.सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को अवमानना नोटिस जारी कर 4 हफ्ते में जवाब देने को कहा है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार को प्रियंका शर्मा को तुरंत रिहा करने का आदेश दिया था. कोर्ट ने रिहाई के बाद प्रियंका शर्मा को लिखित में ममता बनर्जी से माफी मांगने को कहा था.

दरअसल, प्रियंका शर्मा के भाई राजीब शर्मा ने याचिका में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से दखल की मांग की थी और कोर्ट से दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की थी. बनावटी फोटो में ममता को मेट गाला इवेंट में एक्ट्रेस प्रियंका चौपड़ा की लुक की तरह दिखाया गया था.

ममता बनर्जी की बनावटी फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के मामले में पश्चिम बंगाल की महिला भाजपा नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में राजनीतिक जंग और तेज हो गई थी. इसके बाद उन्हें हावड़ा जिला पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था. दोनों दलों के बीच टकराव की आशंकाओं के मद्देनजर भी पुलिस पहले से ही अलर्ट है.आरोप है कि प्रियंका शर्मा ने ये बनावटी फोटो अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट की थी. प्रियंका शर्मा के फोटो पोस्ट करते ही सोशल मीडिया पर इसे शेयर किया जाने लगा था.

प्राथमिक जांच के बाद प्रियंका शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया था.साइबर क्राइमसेल पूरे मामले की जांच कर रही है.गौरतलब है कि प्रियंका चोपड़ा के मेट गाला अवतार को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी काफी खिंचाई की गई थी. फैंस ने प्रियंका चोपड़ा की इस फोटो को लेकर काफी नकारात्मक और मजाकिया कमेंट किए थे.