राम रहीम नहीं निकलेगा जेल से बाहर, खुद ही वापस लिया पैरोल का आवेदन

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख और बलात्कार-हत्या मामले में दोषी गुरमीत राम रहीम ने अपना पैरोल आवेदन वापस ले लिया है. जेल में बंद राम रहीम ने हरियाणा के सिरसा में अपने खेतों में खेती करने के लिए एक महीने से अधिक समय (42 दिन) की पैरोल मांगी थी. राम रहीम की पैरोल पर हरियाणा सरकार ने फैसला जिला प्रशासन पर छोड़ दिया था. हाल ही में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा था कि गुरमीत राम रहीम के पैरोल पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है.

मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा था, ‘कुछ निश्चित कानूनी प्रकियाएं होती हैं और जिस इंसान को पैरोल लेने का हक है, वह ले सकता है. हम किसी को रोक नहीं सकते. अभी राम रहीम पर कोई फैसला नहीं हुआ है.’ बता दें डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम बलात्कार के दो मामलों और पत्रकार की हत्या में दोषी ठहराये जाने के बाद से रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है. गुरमीत को दो महिलाओं से दुष्कर्म के मामले में अगस्त 2017 में 20 साल कैद की सजा सुनाई गई थी.

पंचकुला में सीबीआई की विशेष अदालत ने इस साल जनवरी में उसे और तीन अन्य दोषियों को एक पत्रकार की हत्या के 16 साल पुराने मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. वहीं, गुरमीत राम रहीम की पैरोल की मांग पर हरियाणा सरकार के जेल मंत्री कृष्ण पंवार ने कहा था कि जेल में बाबा का आचरण अच्छा है. ऐसी रिपोर्ट एसपी जेल ने दी है. बाकी किसी कैदी को पैरोल देनी है या नहीं इसका फैसला कमिश्नर का होता है.