सिंगापुर में भगोड़े नीरव मोदी को झटका, 44 करोड़ रुपये की नकदी वाला खाता फ्रीज

नई दिल्ली। सिंगापुर की हाईकोर्ट ने नीरव मोदी मामले में कारवाई करते हुए पूर्वी मोदी और मानक मेहता के बैंक खाते को सील कर दिया है. बैंक खाते में 6.122 मिलियन डॉलर यानी 44.41 करोड़ रुपये जमा थे. सिंगापुर हाईकोर्ट ने ये कारवाई ED की सिफारिश पर की है. ईडी ने इस बैंक खाते को मनी लॉड्रिंग कानून के तहत अटैच किया था. इस पर संबंधित अथॉरिटी ने 8 मार्च 2019 को कनफर्म भी कर दिया था.

बैंक धोखाधड़ी में पूर्वी मोदी भी आरोपी
ईडी के अनुसार सिंगापुर में ये बैंक खाता मैसर्स पैवेलियन प्वाइंट कॉर्पोरेशन, ब्रिटिश वर्जिन आइसलैंड के नाम था और यह कंपनी नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी और मानक मेहता के नाम थी. ईडी ने अपनी जांच में पाया था PNB से लिये गये लोन के पैसे में से 44.41 करोड़ रुपये को अवैध तरीके से नीरव मोदी ने सिंगापुर के इस बैंक खाते में पहुंचा दिया था. पूर्वी मोदी भी 13,500 करोड़ रुपये के PNB घोटाले में आरोपी है और सीबीआई और ED ने रेड कार्नर नोटिस जारी कर रखा है.

नीरव मोदी पर 13,500 करोड़ रुपये के बैंक घोटाले का आरोप है और पिछले साल मामला दर्ज होने से पहले ही नीरव मोदी और उसका पुरा परिवार भारत से भागने में कामयाब हो गया था. लेकिन भारत सरकार की प्रत्यर्पण की मांग पर कारवाई करते हुए लंदन सरकार ने 19 मार्च को नीरव मोदी को मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार किया था. इसके बाद से नीरव मोदी लंदन की जेल में बंद है. नीरव मोदी ने इस बीच चार बार जमानत की अर्जी दाखिल की लेकिन लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने उसकी याचिका को खारिज कर दिया.