अगर आज विजय माल्या की अर्जी खारिज हुई तो 28 दिन में लाया जा सकता है भारत!

नई दिल्ली/ लंदन। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की अपील पर लंदन की अदालत में आज भारतीय समयानुसार दोहपर 3 बजे सुनवाई होनी है. यदि सुनवाई के दौरान अदालत माल्या को इंग्लैंड में रहने की इजाजत नहीं देती तो उसका 28 दिन के अंदर प्रत्यर्पण हो जाएगा. माल्या की तरफ से भारत लौटने के बजाय ब्रिटेन में कुछ और समय तक रहने की गुजारिश की गई है. लेकिन भारतीय जांच एजेंसियां लगातार माल्या के प्रत्यर्पण की कोशिश में लगी हुई हैं.

14 फरवरी को प्रत्यर्पण के खिलाफ याचिका दायर की थी
दो जज जस्टिस लिगेट और और जस्टिस पॉपलिवेल की बेंच माल्या की याचिका पर सुनवाई करेगी. लंदन के समयानुसार सुबह 10.30 बजे (भारतीय समयानुसार दोहपर 3 बजे) का समय सुनवाई के लिए तय किया गया है. आपको बता दें विजय माल्या ने 14 फरवरी को भारत में प्रत्यर्पण के खिलाफ याचिका दायर की थी. माल्या की इस याचिका को कोर्ट की तरफ से 5 अप्रैल को खारिज कर दिया. इसके बाद शराब कारोबारी ने मौखिक सुनवाई के लिए फिर से आवेदन किया है.

सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का विकल्प
63 वर्षीय विजय माल्या की याचिका को हाई कोर्ट की तरफ से पहले ही खारिज किया जा चुका है. अब इस पर मौखिक सुनवाई होनी है. यदि इस मामले में माल्या और भारतीय एजेंसियों में से किसी को भी निराशा मिलती है तो दोनों के पास सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का विकल्प है. ऊपरी अदालत में अपील की अनुमति मिलने पर पूरी सुनवाई में अगले दो से छह महीने का समय लग सकता है.