मिशन बंगाल में जुटा आरएसएस, ममता बनर्जी के किले में सेंधमारी की पूरी तैयारी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और बीजेपी के बीच पिछले कुछ समय से काफी खींचतान चल रहा है। अब लग रहा है कि ममता बनर्जी की मुश्किल और बढने वाली है, ऐसा इसलिये क्योंकि बंगालवासी बीजेपी की करीबी संगठन आरएसएस में खासा दिलचस्पी दिखा रहे हैं, हाल ही में आरएसएस के पदाधिकारियों ने दावा किया, कि संघ के सदस्य बनने के लिये जो ऑनलाइन आवेदन आ रहे हैं, उसमें यूपी के बाद सबसे ज्यादा आवेदक बंगाल से हैं।

यूपी सबसे आगे 
द प्रिंट में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक संघ की आधिकारिक वेबसाइट पर ज्वाइन आरएसएस एक सेंगमेंट है, 2017 में पश्चिम बंगाल से करीब 7400 आवेदन मिले थे, ये छठें पायदान पर था, 2018 में बढकर ये आंकड़ा 9 हजार के करीब पहुंच गया, अब इस साल अभी 6 महीने ही गुजरे थे, 7700 से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं, हालांकि सबसे ज्यादा आवेदन आने के मामले में सबसे आगे यूपी है, इस साल यहां से 9392 आवेदन आये हैं।

संघी बनने में दिलचस्पी 
आरएसएस के विभिन्न पदों पर आसीन पदाधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि बंगाल से हालिया आंकड़े खुश करने वाले हैं। क्योंकि पश्चिम बंगाल में आरएसएस की दो ही यूनिट है, जबकि यूपी में संघ ने खुद को 6 यूनिट्स में बांट रखा है। एक अन्य पदाधिकारी ने नाम ना लिखने की शर्त पर बताया कि संघ से जुड़ने के लिये ऑनलाइन आवेदनों में इस साल बढोतरी दर्ज की गई है, 2017 में ऑनलाइन आवेदकों की संख्या 1 लाख थी, 2018 में 1.10 लाख हो गई, उम्मीद की जा रही है कि इस साल ये आंकड़ा पार हो जाएगा।

ममता बनर्जी की बढेगी बेचैनी
राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि संघ की जड़ें अगर बंगाल में मजबूत होती है, तो इससे टीएमसी की परेशानियां बढ सकती है, हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने बंगाल में कमाल का प्रदर्शन किया, जिसके बाद माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव 2021 में भी बीजेपी की सीधी लड़ाई टीएमसी से होगी।