उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कांग्रेस महासचिव पद से दिया इस्तीफा, ये है कारण

देहरादून। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पद से इस्तीफा देने के बाद अब उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने भी पद से इस्तीफा दे दिया है। हरीश रावत ने कहा कि लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार की जिम्मेदारी लेते हुए मैं पद से इस्तीफा दे रहा हूं, हरीश रावत ने इस संदर्भ में अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट भी लिखा है।

फेसबुक पर पोस्ट
पूर्व सीएम ने फेसबुक पर लिखा है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हार और संगठनात्मक कमजोरी के लिये हम पदाधिकारीगण जिम्मेदार हैं, असम में पार्टी ने अपेक्षित सफलता हासिल नहीं की, प्रभारी होने के नाते इसके लिये मैं उत्तरदायी हूं, मैंने अपनी कमी को स्वीकारते हुए अपने महामंत्री पद से पहले ही इस्तीफा दे दिया है।

पद आवश्यक नहीं 
हरीश रावत ने आगे लिखा कि पार्टी के लिये समर्पित भाव से काम करने के लिये मेरी स्थिति के लोगों के लिये पद ज्यादा मायने नहीं रखता, लेकिन प्रेरणा देने वाला नेता आवश्यक है, प्रेरणा देने की क्षमता सिर्फ राहुल गांधी जी में है, अगर उनके हाथों में पार्टी का बागडोर रहे, तो संभव है कि हम 2022 में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में वर्तमान स्थिति को बदल सके। और 2024 में बीजेपी और मोदी जी को परास्त कर सकते हैं, इसलिये लोकतांत्रिक शक्तियां और सभी कांग्रेस जन कराहुल जी को कांग्रेस अध्यक्ष पद पर देखना चाहते हैं।

राहुल गांधी का इस्तीफा 
आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में दुर्गति होने के बाद से राहुल गांधी इस्तीफे पर अड़े हुए हैं, उन्होने बीते दिन बताया कि उन्होने पद छोड़ दिया है, जल्द ही नये कांग्रेस अध्यक्ष के नाम का ऐलान किया जाएगा, साथ ही राहुल गांधी ने कहा है कि उनकी बहन की ओर ना देंखें, बल्कि उनके परिवार से बाहर से नया अध्यक्ष ढूंढे, हालांकि कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता उन्हें मनाने में लगे हुए हैं।