JNU: छात्र संघ अध्यक्ष सहित 20 छात्र निलंबित, प्रवेश परीक्षा में धाँधली का है आरोप

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ एकबार फिर धरने पर जाने के कगार पर है। दरअसल, यूनिवर्सिटी ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष एन साई बालाजी के साथ बीस छात्रों को निलंबित कर दिया है। निलंबित किए गए छात्रों में पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष का नाम भी शामिल है। छात्रसंघ अध्यक्ष एन साई बालाजी ने विवि प्रबंधन पर अकादमिक गतिविधियों से निलंबित करने का आरोप लगाया है। इस बारे में जेएनयू की फ्रीलांस प्रोटेस्टर शेहला रशीद ने ट्वीट कर के जानकारी दी है।

Shehla Rashid شہلا رشید

@Shehla_Rashid

Strongly condemn the harassment of student activists. JNU is proud of its student leaders. The administration is embarrassing itself before the world by taking such vendetta-driven actions. https://twitter.com/universitycircl/status/1147433364254855168 

University Circle@universitycircl

JNUSU अध्यक्ष समेत बीस छात्रों को यूनिवर्सिटी ने किया निलंबित, @nsaibalaji बोले- एडमिशन में धांधली को उजागर करने की मिल रही है सजा @AISA_tweets @Shehla_Rashid @kanhaiyakumar @GeetaJnu @kawalpreetdu @kavita_krishnan @jainendrakumar http://universitycircle.in/jnusu-president-and-twenty-students-suspended-by-the-university/ 

75 people are talking about this

इन सभी लोगों पर प्रवेश परीक्षा में गड़बड़ी करने का आरोप है। पूर्व में एमफिल की डिग्री रोकने के बाद विवि कुलपति ने अध्यक्ष एन साई बालाजी समेत अन्य छात्र नेताओं को अकादमिक गतिविधियों से निलंबित कर दिया है।यह मुद्दा शुक्रवार (जून 05, 2019) को तब सामने आया जब जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष एन साई बालाजी ने यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स पोर्टल पर अपडेट चेक करने के लिए लॉग इन किया। लॉग इन करते हुए ही उन्हें निलंबन की सूचना दिखाई दी। जिसके बाद यूनिवर्सिटी के दूसरे छात्रों ने भी इस बात की शिकायत की है।

ऑनलाइन पंजीकरण के दौरान दिखाई जा रही जानकारी के अनुसार उन्हें चीफ प्रॉक्टर की तरफ से निलंबित किया गया है। हालाँकि, जेएनयू प्रशासन ने छात्रसंघ अध्यक्ष के आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया है। निलंबित छात्रों का कहना है कि इस मामले में वे यूनिवर्सिटी के आधिकारिक नोटिस आने का इंतजार करेंगे फिर कोई फैसला लेंगे।