World Cup 2019: दो बार मुकाबला हुआ टाई, फिर भी चैंपियन बना इंग्‍लैंड, ये रही वजह

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में फाइनल के रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को हराकर खिताब अपने नाम कर लिया है. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हुए खिताबी मुकाबले में पहले 50 ओवर का खेल हुआ. इसमें दोनों ही टीमों ने बराबर स्कोर बनाया और मैच टाई हो गया. इसके बाद सुपर ओवर हुआ. इसमें इंग्लैंड ने पहली बैटिंग करते हुए 15 रन बनाए. न्यूजीलैंड को जीत जर्ज करने के लिए 16 रन बनाने थे.

सुपर ओवर में बैटिंग करते हुए न्यूजीलैंड ने 15 रन बनाए. इससे सुपर ओवर भी टाई हो गया. लेकिन, आईसीसी के नियम से इंग्लैंड को जीत मिली. दरअसल, आईसीसी के नियम के अनुसार, जो टीम अपनी इनिंग और सुपर ओवर में सर्वाधिक चौके लगाती है, उसे ही विजेता घोषित किया जाता है. इसी आधार पर इंग्लैंड को विश्व कप 2019 का विजेता घोषित कर दिया गया.

सुपर ओवर के दौरान इंग्लैंड की ओर से बेन स्टोक्स और जॉस बटलर बैटिंग के लिए आए थे. स्टोक्स ने तीन गेंदों में 8 रन बनाए थे. वहीं, बटलर ने तीन गेंदों में 7 रन बनाए. न्यूजीलैंड की ओर से बॉलिंग करने ट्रेंट बोल्ट मैदान में आए थे. वहीं, सुपर ओवर में इंग्लैंड की ओर से बॉलिंग के लिए जोफ्रा ऑर्चर मैदान पर आए.

बावजूद सुपर ओवर टाई होने के इंग्लैंड ने आईसीसी के नियम के अनुसार जीत हासिल की.

जानिए क्या है वह नियम…

”अगर सुपर ओवर भी टाई होता है, तो जिस टीम ने अपनी इनिंग और सुपर ओवर को जोड़कर सर्वाधिक चौके लगाए होंगे, वह खिताब जीत जाएगी. इसी नियम के चलते इंग्लैंड को जीत हासिल हुई.”

फाइनल के लिए नियम:  
1. अगर मैच टाई हो जाता है तो दोनों टीमों के बीच सुपर ओवर होगा.
2. अगर सुपर ओवर भी टाई होता है, तो जिस टीम ने अपनी इनिंग और सुपर ओवर को जोड़कर सर्वाधिक चौके लगाए होंगे, वह खिताब जीत जाएगी. इसी नियम के चलते इंग्लैंड को जीत हासिल हुई.
3. अगर मैच निर्धारित दिन में शुरू नहीं हुआ या शुरू होकर खत्म नहीं हुआ, तो अगले दिन (रिजर्व डे) यही मैच होगा.
4. अगर रिजर्व डे पर भी खेल पूरा नहीं हो पाया तो दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा.