वेस्टर्न म्यूजिक और फुटवियर की शौकीन थीं शीला दीक्षित, आत्मकथा में बताई थी ये खास बातें

नई दिल्ली। दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष और पूर्व सीएम शीला दीक्षित को संगीत का बेहद शौक था, वो पसंदीदा गाने सुनने के लिये रेडियो के पास बैठी रहती थीं, संगीत के साथ-साथ उन्हें आम लड़कियों और महिलाओं की तरह अलग-अलग जूते -चप्पल पहनने का भी शौक था, उनके पास जूते-चप्पलों का अच्छा खासा कलेक्शन था, इसके अलावा शीला जी को पढना और फिल्में देखना भी खूब पसंद था।

पहली फिल्म
थिएटर में जाकर उन्होने जो पहली फिल्म देखी थी, वो थी हैमलेट, अपनी जिंदगी से जुड़े इन पहलुओं का खुलासा पूर्व सीएम ने अपनी आत्मकथा सिटीजन दिल्ली- माई टाइम्स माई लाइफ में किया था, ये किताब बीते साल प्रकाशित हुई थी, जिसमें शीला दीक्षित ने बताया है कि टेलीविजन नहीं था, इसलिये रेडियो सुनने के लिये उन्होने दिन में कुछ घंटे तय कर रखे थे।

पश्चिमी गाने पसंद
शीला दीक्षित ने अपनी आत्मकथा में बताया है कि जिंदगी स्कूल की पढाई करने और वक्त बिताने के लिये किताबें पढने में गुजरती थी, कभी-कभी फिल्में देखने और संगीत सुनने के ईद-गिर्द घूमती थी, आत्मकथा में पूर्व सीएम ने बताया कि शुक्रवार की रात पश्चिमी संगीत के कार्यक्रम ए डेट विद यू के साथ गुजरती थी, इस कार्यक्रम में नये गाने सुनाये जाते थे।

पसंदीदा किताब
उनकी पसंदीदा किताबों में लेविस कैरल की एलिस इन वंडरलैंड और थ्रू द लुकिंग ग्लास, व्हाट एलिस फाउंड देयर के अलावा उन्हें शेरलक होम्स की सीरीज भी पसंद थी, आत्मकथा में शीला जी ने अपने फुटवेयर के प्रति अपने जुनून के बारे में भी बताया है, वो कहती हैं कि उस समय उन्हें 5 रुपये पॉकेट मनी के तौर पर मिलते थे, कुछ ही दिनों में वो सिंपल डिजाइन वाले रंग बिरंगे फुटवेयर खरीदने के लिये ठीक-ठाक पैसे जमा कर लेती थी।