कर्नाटक: फ्लोर टेस्ट में शामिल न होने पर मायावती ने अपने MLA को पार्टी से निकाला बाहर

नई दिल्ली। कर्नाटक में विश्वास मत प्रस्ताव पर वोटिंग के दौरान गैरहाजिर रहे बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के विधायक एन. महेश को पार्टी सुप्रीमो मायावती ने निष्कासित कर दिया है. मायावती ने अनुशासनहीनता के आरोप में विधायक को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया है.

मायावती ने एक ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी. मायावती ने ट्वीट में लिखा, ‘कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार के समर्थन में वोट देने के पार्टी हाईकमान के निर्देश का उल्लंघन किया है. विश्वासमत प्रस्ताव पर वोटिंग के दौरान विधायक एन महेश अनुपस्थित रहे जो अनुशासनहीनता है. पार्टी ने इसे अति गंभीरता से लिया है. इसलिए श्री महेश को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया गया.’

गौरतलब है कि विश्वास प्रस्ताव पर चार दिनों की बहस के बाद कर्नाटक में एच. डी. कुमारस्वामी की सरकार गिर गई है. विधानसभा में मंगलवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के नेतृत्व में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) की गठबंधन सरकार विश्वास मत हासिल नहीं कर सकी. 225 सदस्यीय कर्नाटक विधानसभा में विश्वास मत के लिए 20 विधायक सदन में उपस्थित नहीं हुए थे.

विधानसभा अध्यक्ष के. आर. रमेश कुमार ने विश्वास मत के बाद सदन के सदस्यों को बताया कि मुख्यमंत्री एच. डी. कुमारस्वामी विश्वास मत हासिल नहीं कर सके. उन्होंने बताया कि विश्वास मत के पक्ष में 99 जबकि इसके खिलाफ 105 मत पड़े. इसके साथ ही बीजेपी ने कहा कि वह कर्नाटक में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी.