मोइन कुरैशी केस में सतीश सना गिरफ्तार, CBI के स्पेशल डायरेक्टर रहे अस्थाना पर लगाया था रिश्वत मांगने का आरोप

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मोइन कुरैशी केस में सतीश बाबू सना को गिरफ्तार किया है. सतीश बाबू की ये गिरफ्तारी राजधानी दिल्ली से हुई है. सतीश बाबू ने देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर रहे राकेश अस्थाना पर तीन करोड़ रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया था. रिश्वत के आरोपों के बाद सीबीआई में खुल्लम-खुल्ला गतिरोध शुरू हुआ. जिसके बाद निदेशक अलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया.

मनी-लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में हुआ गिरफ्तार

अधिकारियों ने बताया है कि मांस कारोबारी मोइन कुरैशी और अन्य के खिलाफ ईडी की मनी-लॉन्ड्रिंग जांच के सिलसिले में सतीश सना बाबू को गिरफ्तार किया गया है. सतीश को मनी लॉन्ड्रिंग निरोधक कानून (PMLA) के प्रावधानों के तहत ईडी ने शुक्रवार देर रात गिरफ्तार किया गया था.

मोइन कुरैशी का काफी करीबी माना जाता है सतीश

ईडी ने अधिकारियों के साथ कथित भ्रष्टाचार के आरोप में मोइन कुरैशी के खिलाफ साल 2017 में मनी लॉन्ड्रिंग रोधी कानून के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया था. सना मोइन कुरैशी का काफी करीबी माना जाता है.

कौन है सतीश सना?

हैदराबाद के कारोबारी सतीश सना ने दावा किया था कि उन्होंने मांस निर्यातक मोइन कुरैशी से जुड़े एक मामले में राहत पाने के लिए तीन करोड़ रुपये सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को घूस के तौर पर दिए थे. मामले की जांच अस्थाना के नेतृत्व वाली एसआईटी कर रही थी. सीबीआई ने 15 अक्टूबर को अस्थाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी.