मायावती बोलीं- उन्नाव एक्सीडेंट षड्यंत्र, मामले में संज्ञान ले सुप्रीम कोर्ट

लखनऊ। उन्नाव रेप पीड़िता एक्सीडेंट मामले में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने षड्यंत्र का आरोप लगाया. मायावती ने कहा, ‘उन्नाव रेप पीड़िता की कार की रायबरेली में ट्रक से एक्सीडेंट प्रथम दृष्टया उसे जान से मारने का षड्यंत्र लगता है, जिसमें उसकी चाची व मौसी की मौत हो गई. पीड़िता और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हैं. सुप्रीम कोर्ट को इसका संझान लेकर दोषियों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करनी चाहिए.’

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के साथ हुई सड़क दुर्घटना की सीबीआई जांच की मांग की है. वहीं कांग्रेस ने भी इस दुर्घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि इस केस में चल रही सीबीआई जांच कहां तक पहुंची? आरोपी विधायक अभी तक भाजपा में क्यों हैं? पीड़िता और गवाहों की सुरक्षा में ढिलाई क्यों? प्रियंका गांधी ने कहा कि इन सवालों के जवाब बिना क्या भाजपा सरकार से न्याय की कोई उम्मीद की जा सकती है?

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कहा है कि अगर उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता चाहती है तो उनकी सरकार राय बरेली मामले की सीबीआई जांच कराने के लिए तैयार है. दुर्घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी और पीड़िता और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी. सिंह ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता को तीन निजी सुरक्षा कर्मी दिए गए थे लेकिन कार में जगह नहीं होने के कारण पीड़िता ने सुरक्षा कर्मियों वहीं रुकने के लिए कहा था. उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच में यह एक दुर्घटना का मामला लगता है क्योंकि ट्रक तेज रफ्तार से आ रहा था. उन्होंने कहा कि प्रत्यक्षदर्शियों के बयान भी दर्ज कर लिए गए हैं.