उन्नाव मामले पर कविराज कुमार विश्वास ने तोड़ी चुप्पी, चिंटूपना छोड़ आवाज उठाना शुरु कीजिए

लखनऊ। उन्नाव रेप पीड़िता की कार की दुर्घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया है, इस हादसे (कथित साजिश) में पीड़िता की चाची और मौसी का मौत हो चुकी है, तो पीड़िता और उनके वकील अस्पताल में जिंदगी और मौत से लड़ रहे हैं, इस घटना के बाद लोग धीरे-धीरे मुखर हो रहे हैं, वो सरकार और व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। चर्चित कवि और नेता कुमार विश्वास ने भी इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ी है।

कुमार ने क्या कहा 
कुमार विश्वास ने ट्विटर के जरिये अपनी चुप्पी तोड़ी है, उन्होने लिखा है कि उन्नाव में हुई घटना हमारे समाज-राजनीति में घुसपैठ कर रहे बेहद घटिया दौर की शुरुआती आहट है, अपने-अपने नेताओं-दलों-विचारों-खेमों का चिंटूपना छोड़ इस देश की क़ानून-व्यवस्था-मर्यादा के बारे में सोचना-बोलना, आवाज़ उठाना शुरू करिए नहीं तो देश पर गर्व करना तो दूर यहाँ जीना भी दूभर होगा👎

क्या है पूरा मामला 
आपको बता दें कि उन्नाव बलात्कार पीड़िता अपनी चाची, मौसी और वकील के साथ रायबरेली जा रही थी, रायबरेली जेल में पीड़िता के चाचा बंद हैं, जिनसे मुलाकात के लिये ये लोगे स्विफ्ट डिजायर कार से जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उनकी कार का ट्रक से आमने-सामने का टक्कर हो गया, जिसमें दोनों महिलाओं की मौके पर ही मौत गई, बलात्कार केस में मृतक चाची मुख्य गवाह थी।

बीजेपी पर विरोधी पार्टियां हमलावर
मालूम हो कि इस बलात्कार के केस में मुख्य आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर हैं, पीड़िता के कार का एक्सीडेंट होने के बाद विपक्षी पार्टियां पूरी तरह से बीजेपी सरकार पर हमलावर है। हालांकि योगी सरकार ने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया है कि उन्हें न्याय दिलाया जाएगा, जो लोग भी इसके पीछे होंगे, उन्हें सजा दिलाई जाएगी, सरकार ने परिवार से कहा कि अगर वो सीबीआई जांच चाहते हैं, तो वो मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश करने को तैयार हैं।