उन्नाव रेप: IG ने पूछा, ‘सड़क हादसे के वक्त क्यों साथ नहीं था पुलिसकर्मी’? रिपोर्ट तलब

उन्नाव। खबर उन्नाव से, जहां आईजी जोन लखनऊ एसके भगत सोमवार रात नौ बजे उन्नाव पहुंचे. जानकारी के मुताबिक, उन्होंने जिले के एसपी एमपी वर्मा, एडिशनल एसपी और कई सीओ के साथ मीटिंग की. हादसे के समय पीड़िता के साथ सुरक्षा कर्मियों के साथ न होने के लेकर रिपोर्ट तलब की गई है.

मामले में राजनीतिक हलचल को देखते हुए सभी थानों को अलर्ट रहने को कहा है. आईजी ने पूर्व एसओ से किशोरी, उसके चाचा और परिवार के अन्य सदस्यों की तरफ से दिए गए शिकायती प्रार्थनापत्रों, उन पर हुई कार्रवाई और विवेचना की मौजूदा स्थिति की जानकारी नोट की है.

आईजी एसके भगत ने बताया कि रविवार को रायबरेली में जो पीड़िता के साथ जो घटना हुई है. इसके संबंध में मुझे निर्देश प्राप्त हुए की कितने सुरक्षाकर्मी सुरक्षा के लिए मिले हैं. इस घटना में सुरक्षाकर्मी साथ क्यों नहीं थे? क्या कारण रहा? क्या कमियां है? इन छोटे-छोटे बिन्दुओं की जांच के संबंध जानकारी के लिए यहां आया हूं. आईजी एसके भगत ने कहा कि बाकी की जानकारी एसपी साहब की जांच पूरी होने के बाद दी जाएगी.

उन्होंने बताया कि रेप पीड़िता के चाचा के पे-रोल की बात चल रही है, कागजी कार्रवाई हो चुकी है. आईजी ने दावा करते हुए कहा कि जैसे ही रेप पीड़िता के चाचा को बाहर पे-रोल पर आते हैं वैसे ही नियम अनुसार अंतिम संस्कार कराया जाएगा.

आपको बता दें कि रविवार को रायबरेली के गुरुबख्श गंज के पास एक दर्दनाक हादसे में रेप पीड़िता की मां, चाची और ड्राइवर समेत तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि पीड़िता और उनका वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे. दोनों घायलों का इलाज लखनऊ के ट्रामा सेंटर में चल रहा है.