अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट में 6 अगस्त से होगी रोजाना सुनवाई, मध्यस्थता का नहीं निकला कोई नतीजा

नई दिल्ली। अयोध्या के राम मंदिर जमीन विवाद को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला किया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में मध्यस्थता का कोई नतीजा नहीं निकला. सुप्रीम कोर्ट मंगलवार 6 अगस्त से इस मामले की रोजाना सुनवाई करेगा. सुनवाई जबतक चलेगी तबतक इस मामले का निपटारा नहीं हो जाता.

हफ्ते में सिर्फ तीन दिन होगी सुनवाई

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट हफ्ते में पांच दिन काम करती है. इन पांच दिनों में सोमवार और शुक्रवार को नए मामले सुने जाते हैं. ऐसे में इस मामले में हफ्ते में सिर्फ तीन दिन यानी मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को ही नियमित सुनवाई होगी.

मध्यस्थता कमिटी ने कल सुप्रीम कोर्ट को सौंपी थी अपनी रिपोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में मध्यस्थता कर रही कमिटी से रिपोर्ट मांगी थी. कुछ पक्षकारों ने कोर्ट में अर्ज़ी दाखिल कर कहा था कि बातचीत के ज़रिए हल निकालने की हो रही कोशिश में सही तरक्की नहीं हो रही है. इसको आगे बढ़ाना सिर्फ समय की बर्बादी है. इसलिए, प्रक्रिया बंद कर दोबारा सुनवाई शुरू की जाए. सुनवाई से पहले गुरुवार को मध्यस्थता कमिटी ने अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंप दी थी.

पिछली सुनवाई में कोर्ट ने कमिटी को 31 जुलाई तक काम करने और 1 अगस्त को रिपोर्ट देने को कहा था. पिछली सुनवाई में कोर्ट ने मध्यस्थता कमिटी के अध्यक्ष से कहा था कि वो 31 जुलाई तक काम जारी रखें. उनकी रिपोर्ट देख कर हम सुनवाई शुरू करने पर फैसला लेंगे.