INDvsWI 2nd ODI: कोहली के 42वें शतक और भुवी के चौके ने दिलाई भारत को आसान जीत

कप्तान विराट कोहली (120) और भुवनेश्वर कुमार ( 4 विकेट) के बेहतरीन प्रदर्शन की बदौलत भारत (Team India) ने वेस्टइंडीज को दूसरे वनडे मैच में आसानी से हरा दिया है. पहले वनडे की तरह दूसरे वनडे मैच के दौरान भी बारिश हुई, लेकिन इससे मैच के नतीजे पर असर नहीं पड़ा. भारत ने इस मैच में पहले बैटिंग करते हुए सात विकेट पर 297 रन बनाए और 59 रन से यह मैच जीत लिया. कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) को उनके बेहतरीन शतक के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया. यह उनके वनडे करियर का 42वां शतक है. वे अब सचिन के 49 शतकों के रिकॉर्ड से सिर्फ सात शतक दूर हैं.

भारत और वेस्टइंडीज ((India vs West Indies) के बीच वनडे सीरीज का दूसरा मैच पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वींस पार्क ओवल मैदान पर खेला गया. भारत ने मैच में टॉस जीता. उसने पहले बैटिंग की. भारतीय टीम ने कप्तान विराट कोहली और श्रेयस अय्यर (71) की पारियों की बदौलत 297 रन का मजबूत स्कोर बनाया. वेस्टइंडीज (West Indies) की पारी के बीच में बारिश हो गई. इस वजह से वेस्टइंडीज को डकवर्थ लुइस नियम के तहत जीत के लिए 46 ओवर में 270 रन का संशोधित लक्ष्य मिला. मेजबान टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए कभी भी बेहतर स्थिति में नजर नहीं आई और 42 ओवर में 210 रन बनाकर ढेर हो गई.

11 रन बनाकर भी रिकॉर्ड बुक में आए गेल 

लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की शुरुआत धीमी रही. नौवें ओवर की तीसरी गेंद पर जब विंडीज का स्कोर सिर्फ 45 रन था तभी क्रिस गेल (Chris Gayle) 11 के निजी स्कोर पर भुवनेश्वर का शिकार हो गए. गेल यहां एक रिकार्ड अपने नाम कर ले गए. गेल ने इस मैच में अपने देश के लिए वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर ब्रायन लारा को पीछे छोड़ दिया है.

एविन लुइस ने बनाया अर्धशतक 
क्रिस गेल के बाद शाई होप सिर्फ छह रन बनाकर खलील अहमद का शिकार हो गए. दूसरे ओपनर एविन लुइस (65) ने पहले शिमरोन हेटमायर (18) के साथ तीसरे विकेट के लिए 40 रन की साझेदारी की. इसके बाद उन्होंने निकोलस पूरन (42) के साथ 56 रन की साझेदारी की. इन दोनों साझेदारियों को कुलदीप यादव ने तोड़ा. हेटमायर 92 और लुइस 148 के टीम स्कोर पर आउट हुए. लुइस ने 80 गेंदों पर आठ चौके एक छक्के की मदद से 65 रन बनाए.

कुलदीप-शमी को 2-2 विकेट 
भुवनेश्वर कुमार ने पूरन को 179 के कुल स्कोर पर आउट किया. फिर इसी स्कोर पर रोस्टन चेज (18) को पैवेलियन भेज विंडीज की हार तय कर दी. एक रन बाद रवींद्र जडेजा ने कार्लोस ब्रैथवेट (0) को भी पैवेलियन भेज दिया. अभी टीम का स्कोर 182 ही हुआ था कि भुवनेश्वर ने केमार रोच को आउट कर मेजबान टीम का आठवां झटका दे दिया. मोहम्मद शमी ने शेल्डन कॉट्रेल (17) और ओशाने थॉमस (0) को आउट कर भारत को जीत दिलाई. दूसरे छोर पर कप्तान जेसन होल्डर 13 रन बनाकर नाबाद लौटे. भुवनेश्वर ने चार विकेट झटके. कुलदीप व शमी को दो-दो और खलील व जडेजा को एक-एक विकेट मिला.

इससे पहले, भारत की शुरुआत भी खराब रही. शिखर धवन (2) पहले ही ओवर की तीसरी गेंद पर चलते बने. इसके बाद कोहली ने रोहित शर्मा (18) के साथ दूसरे विकेट के लिए 74 रन की साझेदारी कर भारत को संकट से बाहर निकाला. रोहित बेहद धीमा खेले और 34 गेंद पर 18 रन बनाकर आउट हुए. ऋषभ पंत (20) भी ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक सके. भारत ने 101 के स्कोर पर पंत के रूप में तीसरा विकेट गंवाया.

विराट-अय्यर ने 125 रन की साझेदारी की
तीसरा विकेट गिरने के बाद कप्तान कोहली का साथ देने के लिए श्रेयस अय्यर आए. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 125 रन की साझेदारी कर टीम को 200 के पार पहुंचाया. कोहली टीम के 226 के स्कोर पर चौथे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. उन्होंने 125 गेंदों की शतकीय पारी में 14 चौके और एक छक्का लगाया. कोहली का वेस्टइंडीज के खिलाफ यह आठवां शतक है. इसके अलावा बतौर कप्तान उनका यह 20वां शतक है.

कोहली के आउट होने के बाद बारिश के कारण खेल को कुछ समय के लिए रोक दिया गया. खेल जब दोबारा शुरू हुआ तो फिर अय्यर, होल्डर का शिकार बन बैठे. उन्होंने 68 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाया तथा अपने करियर का तीसरा अर्धशतक पूरा किया. केदार जाधव और जडेजा ने 16-16 रन बनाए. भुवनेश्वर ने एक और शमी ने नाबाद तीन रन बनाए. वेस्टइंडीज की ओर से कार्लोस ब्रैथवेट ने सर्वाधिक तीन और कॉट्रेल, चेज तथा होल्डर ने एक-एक विकेट लिया. केदार जाधव रन आउट हुए.