बिहार में सियासी भूकंप, पप्पू यादव के नये दांव से लालू की पार्टी हो सकती है चित

पटना। क्या बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी राजद को एक और झटका लगने वाला है, क्या प्रदेश में थर्ड फ्रंट स्वरुप लेने लगा है, क्या अगले साल विधानसभा चुनाव में एनडीए के सामने बिखरा हुआ विपक्ष होगा, दरअसल ये सवाल इसलिये उठ रहे हैं, क्योंकि पूर्व सीएम जीतन राम मांझी और पप्पू यादव की मुलाकात हुई है, कहा जा रहा है कि पप्पू यादव तीसरे मोर्चे की कवायद में लगे हैं उन्होने सीपीआई नेता कन्हैया कुमार से भी मुलाकात की है।

मांझी से मुलाकात 
पूर्व सांसद पप्पू यादव ने जीतन राम मांझी से उनके सरकारी आवास पर जाकर मुलाकात की, बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच करीब 2 घंटे बातचीत हुई, आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर दोनों ने बात की, जानकारी के अनुसार पप्पू यादव ने मांझी को तीसरे मोर्चे की अगुवाई करने का ऑफर दिया है, और कहा कि वो नया बिहार बनाने के लिये आगे आएं।

कन्हैया को भी करेंगे शामिल
बताया जा रहा है कि गैर एनडीए और गैर राजद के इस प्रस्तावित विकल्प में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार को भी शामिल करने को लेकर बातचीत हुई, पप्पू यादव ने कहा कि मांझी और कन्हैया के साथ ही बिहार के लिये बेहतर विकल्प की संभावना बनेगी, पप्पू यादव और कन्हैया की भी मुलाकात हो चुकी है।

कांग्रेस करे अगुवाई
पप्पू यादव लोकसभा चुनाव से पहले से ही तीसरे मोर्चे की कवायद में लगे हैं, हालांकि लोकसभा चुनाव के दौरान ये संभव नहीं हो पाया, लेकिन अब विधानसभा चुनाव के लिये पप्पू यादव पहले से ही तैयारी में लगे हुए हैं, वो गैर राजद दलों को एकजुट कर रहे हैं, उन्होने कांग्रेस से भी इसकी अगुवाई करने को कहा, उन्होने कहा कि अगर कांग्रेस अगुवाई करे, तो बिहार में नया विकल्प तैयार हो सकता है।