ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने दिए अपने ही विभाग के कार्यों की विजिलेंस जांच के आदेश, जानें क्या है पूरा मामला

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अपने ही विभाग के कार्यों के जांच के आदेश दिए हैं. ऊर्जा विभाग में पिछले दो सालों में ई-टेंडरिंग के माध्यम से जारी हुए कार्यों की विजिलेंस जांच की जाएगी. माना जा रहा है कि भ्रष्टाचार की शिकायत मिलने पर ऊर्जा मंत्री ने विजिलेंस जांच के आदेश दिए हैं. जांच के दायरे में सौभाग्य योजना के तहत कराए गए काम भी आएंगे. विजिलेंस जांच में दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त करवाई की बात भी कही जा रही है.

गौरतलब है कि ऊर्जा विभाग में अधिकारियों के भ्रष्टाचार की खबर पहले भी आ चुकी हैं. कई मामलों में जांच भी चल रही है और कई लोगों के खिलाफ कारवाई भी हो चुकी है. इससे पहले भी ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा द्वारा विभाग में ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन के कार्यों की जांच के आदेश जारी किए जा चुके हैं.