‘पाकिस्‍तान-चीन में अल्‍पसंख्‍यक सुरक्षित नहीं हैं’, UN में पर्दाफाश, US-ब्रिटेन ने लताड़ा

कश्‍मीर में अनुच्‍छेद 370 हटने के बाद यहां कथित मानवाधिकारों के उल्‍लंघन का दुनिया के सामने राग अलापते फिर रहे पाकिस्‍तान और उसका साथ दे रहे चीन का असल चेहरा संयुक्त राष्ट्र में सामने आ गया. यूएन में धार्मिक अल्पसंख्यकों की सुरक्षा पर हुई विशेष बैठक में अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने चीन और पाकिस्‍तान में धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों पर हो रहे अत्‍याचारों और उनके मानवाधिकार के उल्‍लंघन का मुद्दा खास तौर पर उठाया और दुनियार के सामने उन्‍हें इस मुद्दे पर बेनकाब किया.

इस बैठक में अमेरिका ने वैश्विक समुदाय को संबोधित करते हुए खास तौर पर चीन और पाकिस्‍तान को खरी-खरी सुनाई. अमेरिका के प्रतिनिधि सैम ब्राउनबैक ने कहा कि पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यक या तो बहुतसंख्‍यक समुदाय के असामाजिक तत्वों के हाथों पीड़ित होते हैं या भेदभावपूर्ण कानूनों के माध्यम से.

 

ANI

@ANI

Sam Brownback, US Ambassador-at-Large for International Religious Freedom,at UN meet on Safety of Religious Minorities,in New York: In Pakistan, religious minorities continue to suffer from prosecution either at hands of non-state elements or through discriminatory laws&practices

View image on Twitter
229 people are talking about this
वहीं, चीन के लिए उन्‍होंने कहा कि हम चीन में सरकार द्वारा धार्मिक स्वतंत्रता पर व्यापक और अनुचित प्रतिबंधों को बढ़ाए जाने के बारे में गहराई से चिंतित हैं. हम चीनी सरकार से सभी के मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता का सम्मान करने का आग्रह करते हैं.

 

ANI

@ANI

Sam Brownback, US Ambassador-at-Large for International Religious Freedom, at UN meet on Safety of Religious Minorities, in New York: We urge the Chinese government to respect the human rights & fundamental freedoms of everyone in that nation. https://twitter.com/ANI/status/1164727286752600064 

ANI

@ANI

Sam Brownback, US Ambassador-at-Large for International Religious Freedom, at UN meet on Safety of Religious Minorities, in New York: We remain deeply concerned about the Chinese government escalating widespread and undue restrictions on religious freedom in China.

View image on Twitter
67 people are talking about this
वहीं, ब्रिटेन के प्रतिनिधि लॉर्ड अहमद ने कहा कि ब्रिटेन ने दुनिया भर में धार्मिक समुदायों से अल्पसंख्यकों के अधिकारों के लिए बात की है. विशेष तौर पर चीन में उइगर से और पाक में ईसाई अहमदीयों से.

ANI

@ANI

Lord Ahmad, PM’s Special Envoy on Freedom of Religion or Belief, UK, at UN meet on Safety of Religious Minorities in New York:UK has spoken up for rights of religious communities&minorities across world. From Uyghurs in China,Christians&Ahmadis in Pak.

View image on Twitter
74 people are talking about this