VIDEO: एमएसके प्रसाद ने बताया क्यों जोंटी रोड्स से बेहतर फील्डिंग कोच हैं आर श्रीधर

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए मुख्य कोच के बाद कोचिंग स्टाफ के लिए भी उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट कर लिया गया है. विक्रम राठौर (Vikram Rathour), भरत अरुण और आर. श्रीधर (R. Sridhar) को क्रमश: बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग कोच के लिए पहली पसंद के तौर पर रखा गया है. इन तीनों का सिलेक्शन एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय सीनियर चयन समिति ने किया. पांच सदस्यीय चयनसमिति में एमएसके प्रसाद के अलावा, सरनदीप सिंह, गगन खोड़ा, जतिन परांजपे और देवांग गांधी शामिल हैं.

फील्डिंग कोच के लिए दक्षिण अफ्रीका के जोंटी रोड्स (Jonty Rhodes) भी रेस में थे, लेकिन वे पिछड़ गए. एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने बताया कि रोड्स क्यों पिछड़ गए. उन्होंने कहा, ‘आर. श्रीधर को दुनिया के सबसे बेहतरीन फील्डिंग कोच में से एक माना जाता है. उन्होंने भारतीय टीम को बेहतरीन फील्डिंग यूनिट में तब्दील कर दिया है. इसलिए श्रीधर के योगदान को ध्यान में रखते हुए हमारे दिमाग में उनकी जगह किसी और को चुनने का विचार ही नहीं आया.’

एमएसके प्रसाद (MSK Prasad) ने साथ ही कहा कि जोंटी रोड्स को फील्डिंग कोच के तौर पर दूसरी या तीसरी पसंद के रूप में चुनना ठीक नहीं था. एक तरह से जोंटी उस रोल में फिट भी नहीं होते. दूसरे और तीसरे नंबर पर रहे फील्डिंग कोच की भूमिका मुख्य रूप से इंडिया-ए और एनसीए (नेशनल क्रिकेट एकेडमी) के लिए होती है. बता दें कि फील्डिंग कोच की चुनी गई लिस्ट में अभय शर्मा को दूसरे और टी. दिलीप को तीसरे नंबर पर रखा गया है.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) ने गुरुवार को चयनसमिति की बैठक के बाद कोचिंग स्टाफ के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों के नाम जारी किए. बैटिंग कोच की बात करें तो विक्रम राठौर को पहली पसंद के रूप में चुना गया है. वे चयनसमिति के सदस्य भी रह चुके हैं. टीम इंडिया के मौजूदा कोच संजय बांगर को दूसरे और इंग्लैंड के मार्क रामप्रकाश को तीसरे नंबर पर रखा गया है. बॉलिंग कोच भरत अरुण अब भी इस पद के लिए पहली पसंद बने हुए हैं. पारस महांब्रे को दूसरे और वेंकटेश प्रसाद को तीसरे नंबर पर रखा गया है.