जटिल मुद्दों के हल के लिए अरुण जेटली पर निर्भर रहती थी पार्टी: आडवाणी

नई दिल्ली। बीजेपी के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी ने दिवंगत पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें सभी के लिए संकटमोचक बताया। आडवाणी ने कहा कि अरुण जेटली में गजब की विश्लेषण क्षमता थी और पार्टी हमेशा जटिल मुद्दों के समाधान के लिए उन पर निर्भर रहती थी। 66 वर्षीय अरुण जेटली का शनिवार दोपहर को एम्स में निधन हो गया था। यहां वह बीते कई सप्ताह से इलाज के लिए भर्ती थे।

अपने पूर्व सहयोगी को याद करते हुए आडवाणी ने कहा, ‘अरुण जेटली जी को श्रद्धांजलि देते हुए मैं बेहद दुखी हूं। वह लीगल क्षेत्र में बड़ी हस्ती होने के साथ ही एक उत्कृष्ट सांसद और कुशल प्रशासक भी थे।’ आडवाणी ने कहा कि जेटली ऐसे कई लोगों में से एक थे, जो उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष रहने के दौरान बीजेपी की कोर टीम का हिस्सा बने और जल्दी ही वह पार्टी के दिग्गज नेताओं में शुमार हुए।

आडवाणी ने कहा कि बीजेपी में हर कोई जटिल मुद्दों के समाधान के लिए उन पर निर्भर रहता था। उन्होंने कहा, ‘अपनी तीक्ष्ण और गहन विश्लेषण करने की क्षमता रखने वाली बुद्धि के चलते वह हमेशा संकटमोचक की स्थिति में होते थे।’

‘फूड लवर थे, हमेशा रेस्तरां बताते थे अरुण जेटली’
आडवाणी ने अरुण जेटली के साथ अपने जीवन के अहम पलों को याद करते हुए कहा कि वह हमेशा उन्हें अच्छे रेस्तरां बताया करते थे। वह फूड लवर थे। आडवाणी ने कहा, ‘जेटली हमेशा परिवार के साथ दिवाली पर घर आते थे।’ उन्होंने कहा कि बीते कुछ सप्ताह से अरुण जेटली अस्पताल में थे और हमें यकीन था कि वे वापस लौट आएंगे। उनका निधन बीजेपी और संघ परिवार ही नहीं बल्कि देश के लिए एक बड़ी क्षति है।