परमाणु धमकी के बीच पाकिस्तानी एयरस्पेस से वतन वापस लौटे पीएम मोदी

नई दिल्ली। फ्रांस के बिआरित्ज में हुई G-7 की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर मसले पर ऐसा ट्रंप कार्ड चला कि पाकिस्तान बौखला उठा. इसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान परमाणु बम की धमकी देने लगे. पाकिस्तान की धमकी को दरकिनार करके पीएम मोदी उसके ही एयरस्पेस से ही वतन वापस लौट आए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), बहरीन और फ्रांस की यात्रा पर पिछले हफ्ते 22 अगस्त को रवाना हुए थे. इस दौरान पीएम मोदी ने फ्रांस के बियारिट्ज शहर में जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा भी लिया.

प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन की यात्रा करने के बाद जी-7 समिट में हिस्सा लेने फ्रांस पहुंचे थे. समिट से इतर प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अलग से मुलाकात भी की. इन दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे पर बातचीत हुई. बैठक के दौरान भारत ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया कि इसमें वे किसी तीसरे देश का हस्तक्षेप नहीं चाहता.

ट्रंप का मध्यस्थता करने से इनकार

इस बातचीत के बाद ही राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने से खारिज कर दिया और उन्होंने कश्मीर मुद्दा दोनों देश (भारत और पाकिस्तान) का द्विपक्षीय मुद्दा बताया.

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यूएई (संयुक्त अरब अमीरात) में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से नवाजा गया. उन्हें भारत और यूएई के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के लिए इस सम्मान से नवाजा गया.

इसके अलावा पीएम मोदी की बहरीन यात्रा भारत के किसी प्रधानमंत्री की इस खाड़ी देश में पहली यात्रा थी. पीएम मोदी की इस यात्रा पर बहरीन सरकार ने सद्भाव प्रदर्शित करते हुए 250 भारतीय कैदियों की सजा माफ कर दी.

एशेज में जीत पर ब्रिटेन को दी बधाई

फ्रांस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-7 सम्मेलन के दौरान ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों, रक्षा, शिक्षा, सुरक्षा और व्यापार समेत कई अहम मुद्दों पर बात हुई. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड की रोमांचक जीत पर जॉनसन को बधाई भी दी.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, ‘ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ एक लंबी बैठक हुई. इस बैठक में व्यापार, रक्षा और इनोवेशन तथा अन्य मसलों पर चर्चा हुई. भारत और ब्रिटेन के संबंध हमारे नागरिकों को बहुत लाभ पहुंचाते हैं.’ मोदी से पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने ट्वीट करके लिखा, ‘भारत के साथ ब्रिटेन के संबंधों को और मजबूत करने को लेकर जी-7 सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मिला.’