BREAKING NEWS

कश्मीर पर बात कर रहा था PAK, बलूच नेता ने इस तरह कर दी बोलती बंद

पाकिस्तान लगातार जम्मू-कश्मीर के मसले पर रोना पूरी दुनिया में रो रहा है और भारत पर आरोप लगा रहा है. लेकिन भारत पर आरोप लगाने से पहले उसे अपने घर में झांकने की जरूरत है. ऐसा कहना है कि पाकिस्तान में ही अत्याचारों का सामना कर रहे बलूचिस्तान के नेता मेहरान मारी का. मेहरान का कहना है कि पाकिस्तान को कश्मीर के मसले पर बोलने का कोई हक नहीं है, क्योंकि बलूचिस्तान में भी पाकिस्तान के द्वारा अत्याचार किए जा रहे हैं.

लंदन में समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए बलूच नेता मेहरान मारी ने कहा कि जेनेवा में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी विदेशी पत्रकारों को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में बुला रहे हैं, लेकिन उन्हें एक बार ये भी सोचना चाहिए कि बलूचिस्तान में क्या हो रहा है.

मेहरान मारी बोले कि पाकिस्तानी विदेश मंत्री को बिल्कुल भी शर्म नहीं है, वह बलूचिस्तान में हर मानवाधिकार के नियम का उल्लंघन कर रहे हैं. और उसके बावजूद दुनिया का ध्यान कश्मीर पर लाना चाह रहे हैं.

ANI

@ANI

Baloch leader Mehran Marri in London: The man has no shame, they are committing genocide and human rights violations in Balochistan, yet they come to international community with a facade of caring about human rights in Kashmir or anywhere else in the world. (10.09) https://twitter.com/ANI/status/1171522662515871746 

ANI

@ANI

Baloch leader Mehran Marri in London: In Geneva, the Pakistani foreign minister was inviting foreign journalists and international human rights organisations to Pakistan occupied Kashmir, to come and see how happily people are living there. (10.09)

View image on Twitter
331 people are talking about this
गौरतलब है कि पाकिस्तान ने मंगलवार को UNHRC में जम्मू-कश्मीर का मसला उठाया और भारत पर कई तरह के आरोप लगाए. लेकिन भारत ने भी अपने तर्कों से पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी और दुनिया के सामने पाकिस्तान के दोहरे चेहरे को सामने रख दिया.

साफ है कि पिछले कुछ वर्षों से लगातार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) और बलूचिस्तान में अत्यातार हो रहा है, रोजाना वहां पर पाकिस्तान की सरकारों के खिलाफ प्रदर्शन होते हैं. लेकिन पाकिस्तान हर बार बात को दबा देता है और लोगों पर जुल्म जारी रखता है. एक तरफ PoK के लोग हर बार आजादी के लिए आवाज उठाते हैं, भारत के साथ आने की बात करते हैं लेकिन पाकिस्तान उनकी आवाज दबाता है. अगर बलूचिस्तान की बात करें तो पाकिस्तानी सेना की तरफ से लगातार स्थानीय लोगों पर अत्याचार किया जा रहा है.