यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को लताड़ा, ‘भारत में आतंकी पड़ोस से आते हैं या चांद से’

लंदन। जम्मू-कश्मीर (Jammu kashmir) पर भारतीय कूटनीति की बहुत बड़ी जीत हुई है. यूरोपीय यूनियन (European Union) ने पाकिस्तान (Pakistan) को कड़ी फटकार लगाई है. पोलैंड ने सख्त तेवर अपनाते हुए कहा है कि भारत में आतंकी चांद से नहीं पाकिस्तान (Pakistan) से आते हैं. पोलैंड ने यह बात EU की संसद में कही है. वहीं इटली ने कहा कि पाकिस्तान (Pakistan)ी आतंकी यूरोप में हमले की योजना बना रहे हैं. फ्रांस के स्‍ट्रॉसबर्ग में यूरोपीय संघ की संसद ने बुधवार को पिछले 11 सालों में पहली बार कश्‍मीर मुद्दे पर चर्चा की और भारत को अपना समर्थन दिया. यहां जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने मसले पर चर्चा हुई. इससे पहले 2008 में यहां कश्‍मीर का मुद्दा उठा था.

यहां आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) लगातार अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत की छवि करने की कोशिश में जुटा है, लेकिन उसे लगातार मुंह की खानी पड़ रही है. अमेरिका, रूस, फ्रांस, इजराइल जैसे देशों के अलावा संयुक्त राष्ट्र से भी पाकिस्तान (Pakistan) को फटकार लगाई जा चुकी है. अब यूरोपीय यूनियन (European Union) ने पाकिस्तान (Pakistan) को जम्मू कश्मीर को लेकर फटकार लगाई है. चर्चा है कि पाकिस्तान (Pakistan) इस पर जेनेवा में 9 सितंबर से 27 सितंबर तक चलने वाले संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार परिषद की 42वीं बैठक में पाकिस्‍तान एक बार फिर से जम्मू कश्मीर का प्रस्‍ताव ला सकता है.

यूरोपीय यूनियन (European Union) ने कश्‍मीर मुद्दे पर शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए भारत-पाकिस्‍तान को बातचीत करने की नसीहत दी है. इटली के यूरोपीयन पीपुल्‍स पार्टी के फुल्‍वियो मार्तुसाइल्‍लो (Fulvio Martusciello) ने कहा, ‘पाकिस्‍तान परमाणु हथियारों के प्रयोग करने की धमकी दी है. यह देश आतंकी भेजकर यूरोप में अशांति फैलाने की योजना बना रहा है.’

पोलैंड के यूरोपीयन कंजर्वेटिव्‍स एंड रिफार्मिस्‍ट ग्रुप के रिसजार्ड (Ryszard Czarnecki) ने कहा, ‘भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत के जम्‍मू कश्‍मीर में होने वाले आतंकी घटनाओं की जांच करने की जरूरत है. ये आतंकी चांद से नहीं आते. वह पड़ोसी देश से आते हैं. हम भारत का समर्थन करते हैं.’

मालूम हो कि भारतीय संसद ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छे 370 को निष्क्रिय करते हुए विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया है. साथ ही इस राज्य को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया है. कड़ी सुरक्षा के चलते पाकिस्तान (Pakistan) से भेज हुए आतंकी जम्मू कश्मीर में कोई भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं. इस बात से पाकिस्तान (Pakistan) बौखलाया हुआ है. वह लगातर अंतरराष्ट्रीय मंच ये भारत को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन उसे हर जगह मुंह की खानी पड़ रही है.