तमंचे के बल पर नाबालिग लड़की से गैंगरेप, अश्लील वीडियो बनाकर किया वायरल

रामपुर। उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले में नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप (Gangrape) और उसका वीडियो वायरल (Video Viral) करने का मामला सामने आया है. पीड़िता ने गांव के ही दो युवकों पर उसके साथ तमंचे के बल गैंगरेप करने और अश्लील वीडियो (Obscene Video) बनाकर वायरल करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है.

यह घटना रामपुर के शहर कोतवाली क्षेत्र की है, जहां बीते 12 सितंबर को पीड़िता चारा काटने गई थी. इस दौरान गांव के एक युवक ने अपने साथी के साथ तमंचे के बल पर उसे अगवा कर लिया और सामूहिक दुष्कर्म किया. दोनों ने उसका अश्लील वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया.

ANI UP

@ANINewsUP

Rampur: A woman was gang-raped by 2 men of her village on 12 Sept, who also recorded the act&made the video viral. Police say “The woman & her relatives came to us with her complaint. FIR registered under various sec of IPC,SC/ST Act & IT Act. Accused will be arrested soon”(24.9)

View image on Twitter
53 people are talking about this
जान से मारने की दी धमकी

पीड़िता ने बताया कि वो चारा काटने गई थी, जहां दो युवक उसे तमंचा दिखाकर सुनसान जगह ले गए और वहां उसके साथ गैंगरेप किया. इस दौरान दोनों ने उसका वीडियो बना लिया. लड़की ने जब इसका विरोध किया तो आरोपियों ने उसे जान से मारने की धमकी. इससे डरी-सहमी पीड़िता ने घटना के बारे में किसी को कुछ नहीं बताया. लेकिन अब वीडियो वायरल होने के बाद पीड़िता के परिजनों के पैरों तले जमीन खिसक गई है. लड़की के परिजन उसे लेकर कोतवाली लेकर आए, जहां आरोपियों के खिलाफ उन्होंने पुलिस को तहरीर दी.

पुलिस दे रही दबिश

एडिशनल एसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि थाना कोतवाली क्षेत्र की एक महिला ने अपने परिजनों के साथ मिलकर एक तहरीर दिया है कि 12 सितंबर को उसके ही गांव के एक लड़के और उसके साथी ने खेत ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया. इस वारदात का वीडियो वायरल होने के बाद परिजनों को इसके बारे में पता चला. परिजनों ने जब लड़की से पूछा तो उसने उन्हें पूरी घटना बताई. जिसके बाद उनकी तरफ से पुलिस में तहरीर दी गई. पुलिस ने 376D, 506, 325 (एससी-एसटी एक्ट) 367 (आईटी एक्ट) के तहत केस दर्ज किया है. महिला का मेडिकल कराया जा रहा है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है.