बागी हुए संजय निरुपम, कहा- दिल्ली के नेताओं में समझ की कमी, छोड़ दूंगा कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस के लिए प्रचार नहीं करने के ऐलान के बाद संजय निरुपम ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में अपनी पसंद के उम्मीदवारों को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज संजय निरुपम ने कांग्रेस आलाकमान पर जमकर हमला बोला.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में बैठे लोगों में समझ की कमी है. पार्टी ने योग्य लोगों के साथ न्याय नहीं किया. संजय निरुपम टिकट बंटवारे से नाराज हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ जुड़े लोग साजिश रच रहे हैं.

निरुपम ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी से जुड़े लोगों को पार्टी में अलग-थलग किया जा रहा है. ऐसा ही चलता रहा तो वह लंबे समय तक कांग्रेस में नहीं रह पाएंगे. निरूपम ने कहा कि कांग्रेस में अब फीडबैक सिस्टम खत्म हो गया है.

महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने वर्सोवा सीट से अपने उम्मीदवार को टिकट नहीं दिए जाने पर भी सवाल उठाए और दावा किया कि वह सही प्रत्याशी को टिकट देने के लिए कह रहे थे. उन्होंने स्वयं को चुनाव प्रचार अभियान से अलग रखने का ऐलान करते हुए कहा कि कुछ सीटों को छोड़ दें तो कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त होगी.

मुस्लिमों को दरकिनार करने का लगाया आरोप

उन्होंने कांग्रेस के महाराष्ट्र प्रभारी मल्लिकार्जुन खड्गे पर भी जमकर निशाना साधा. निरूपम ने कहा कि खड्गे ने हमारे उम्मीदवारों से बात नहीं की. निरुपम ने कहा कि कांग्रेस का पूरा मॉडल ही दोषयुक्त है. उन्होंने कांग्रेस आलाकमान पर मुस्लिम समाज को दरकिनार करने का आरोप लगाया और इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह ठीक नहीं.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन की अंतिम तिथि चार अक्टूबर को है. 21 अक्टूबर को मतदान होना है. ऐेसे मेें पहले ही नेताओं के पलायन से जूझ रही कांग्रेस के लिए निरुपम के बगावती तेवर मुश्किलें बढ़ाने वाले सिद्ध हो सकते हैं.