दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने मानी हार, बोले – भारत को उसके घर में हराना बहुत मुश्किल

पुणे में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में एक पारी और 137 रनों से मिली हार पर दक्षिण अफ्रीकी कप्तान फॉफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) ने निराशा जाहिर की.  डु प्लेसिस ने हार मानते हुए दबे स्वर में स्वीकार किया कि भारत (Team India) को उसके घर में हराना बहुत मुश्किल है. 35 वर्षीय डु प्लेसिस ने साथ ही कहा कि भारत इस जीत की हकदार थी.

फॉफ डु प्लेसिस का मानना है कि भारत ने पहली पारी में ही बड़ा स्कोर बनाकर दोनों टीमों के बीच काफी अंदर पैदा कर दिया. डु प्लेसिस ने साथ ही पहली पारी में 254 रन बनाने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की भी तारीफ की. भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए रविवार को यहां महाराष्ट्र क्रिकेट संघ मैदान पर दूसरे टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को एक पारी और 137 रनों से हरा दिया. इस जीत के साथ भारत ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बनाकर फ्रीडम ट्रॉफी पर भी कब्जा कर लिया.

डु प्लेसिस ने मैच के बाद कहा, “हम जानते हैं कि उप महाद्वीप में आपकी पहली पारी महत्वपूर्ण होती है. बोर्ड पर अच्छे स्कोर से आपके पास काफी मौके बन जाते है. लेकिन जिस तरह से भारत ने बल्लेबाजी की, खासकर विराट का दोहरा शतक, इसके लिए काफी मानसिक मजबूती चाहिए. दो दिनों तक मैदान पर फील्डिंग करने से आप थक सकते हो.”

दक्षिणी अफ्रीकी कप्तान फॉफ डु प्लेसिस ने साथ ही कोहली की बल्लेबाजी की भी तारीफ करते हुए कहा, “एक कप्तान के रूप में आप फील्ड में बदलाव करना जारी रखने की कोशिश करते हैं. लेकिन उनके पास सबका अच्छा जवाब था. वह बहुत अच्छे थे. वह 100 और 150 से संतुष्ट नहीं होते हैं.”

डु प्लेसिस ने मैच में एक अतिरिक्त गेंदबाज खेलाने के अपने फैसले का बचाव करते हुए, कहा, “मुझे लगात है कि इस पिच के लिहाज से यह सही फैसला था. वर्नोन फिलेंडर और कागिसो रबाडा ने पहले कुछ दबाव बनाया लेकिन हमें एक और गेंदबाज की जरूरत थी जो दबाव बना सके. भारत ने अच्छी गेंदबाजी की.”