पिकअप वाहन चलाकर गुजारा कर रहा है यह पाकिस्तानी क्रिकेटर

पाकिस्तान के क्रिकेटर फजल सुभान का वीडियो वायरल

मोहम्मद हफीज ने PCB के नए मॉडल पर सवाल खड़े किए

पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेटर फजल सुभान का पिक अप वाहन चलाते हुए वीडियो वायरल होने के बाद क्रिकेट खिलाड़ी मोहम्मद हफीज ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के नए मॉडल को आड़े हाथों लिया है, जिसमें देश में क्रिकेट को बदलने की बात कही गई है.

पाकिस्तान के एक पत्रकार ने सुभान का एक वीडियो वायरल किया है जिसमें यह घरेलू क्रिकेटर अपने संघर्ष की गाथा को बयां कर रहा है. इस वीडियो के बाद हफीज ने पीसीबी के नए मॉडल पर सवाल खड़े किए हैं.

हफीज ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें उन्होंने कहा है, ‘बहुत बुरी बात है. इनकी तरह कई और खिलाड़ी परेशान हैं. नए सिस्टम के तहत सिर्फ 200 खिलाड़ियों पर ध्यान दिया जाएगा, लेकिन हजारों खिलाड़ी और मैनेजेमेंट स्टाफ के पास नौकरी नहीं है जिसका कारण नया मॉडल है.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि बेरोजगार क्रिकेट जगत की जिम्मेदारी कौन लेगा.’ वीडियो में सुभान कह रहे हैं, ‘हां, मैं भाड़े के लिए यह पिक अप वाहन चलाता हूं. यह सीजन के हिसाब से किया जाने वाला काम है. कई दिन बहुत काम होता है और कई बार कुछ भी नहीं होता.’

Mohammad Hafeez

@MHafeez22

So sad Really , Like him & Many others r suffering, New system wil look after 200 players but 1000s of crickters & management staff r Unemployed bcos of this new model , I dont know who wil take the responsibility of this unemployment of cricket fraternity, 🤲🏼 for all the victims https://twitter.com/shoaib_jatt/status/1182629188219691008 

Shoaib Jatt@Shoaib_Jatt

SAD STORY OF 🇵🇰 🏏

Fazal Subhan was the player of HBL, he has played U19 & A side cricket for Pakistan, he was contender of Pak Test team,
After closing of Departmental cricket he is driving drive
“BHARE KE SUZUKI”

His salary was 1 lac & now earning is less then 40k
😭 😭 😭

Embedded video

712 people are talking about this

उन्होंने कहा, ‘मैंने पाकिस्तान के लिए खेलने के लिए काफी मेहनत की है. डिपार्टमेंटल क्रिकेट से हमें 100,000 का वेतन मिला है, लेकिन जब से डिपार्टमेंट्स बंद हुए हैं हमें 30,000-35,000 का वेतन मिलता है जो जीने के लिए पर्याप्त नहीं है.’

वह कहते हैं, ‘मैं भाग्याशाली हूं कि मेरे पास अभी यह नौकरी है क्योंकि जिस तरह की चीजें हैं उससे किसे पता कि कल मेरे पास यह हो या नहीं. हमारे पास कोई विकल्प नहीं है. हमें अपने बच्चों के लिए कुछ करना होगा.’ सुभान ने घरेलू क्रिकेट में 40 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं और 2,301 रन बनाए हैं. वह लिस्ट-ए में भी 29 मैच खेल चुके हैं और 659 रन बना चुके हैं.